मध्य प्रदेश

‘PM आवास योजना’ में नाम जोड़ने के लिए सरपंच ले रहा था रिश्वत, पुलिस ने किया गिरफ्तार

सीहोर : आवासहीनों को आवास देने के लिए सरकार द्वारा चलाई गई प्रधानमंत्री आवास योजना में रिश्वतखोरो ने हितग्राहियों से रिश्वत लेकर सूची में उनका नाम जोड़ने का गोरखधंधा शुरू कर दिया है। जिले के आष्टा जनपद पंचायत की पगारिया हाट गांव में पीएम आवास योजना में लाभार्थी का नाम दर्ज करने के नाम पर रिश्वत लेने का मामला सामने आया है। भोपाल लोकायुक्त पुलिस की टीम ने रिश्वतखोर सरपंच को एक हजार पांच सौ रुपये लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।

Loading...

रिश्वतखोरों से परेशान होकर हितग्राहियों ने लोकायुक्त पुलिस की सहायता ली। जिसके बाद ग्राम पंचायत पगारिया हाट में भोपाल से आए लोकायुक्त पुलिस के दल ने सरपंच देवकरण बलाई और उसके बेटे ओम प्रकाश बलाई को पीएम आवास के एक हितग्राही से रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है।

जानकारी के अनुसार सरपंच देवकरण ने मोहन पाटीदार से पीएम आवास योजना की लिस्ट में नाम दर्ज करने के लिए 10 हजार रुपये की रिश्वत मांगी थी। लेकिन लोकायुक्त पुलिस ने शुक्रवार को अंतिम किश्त के रुप में एक हजार पांच सौ रुपये की रिश्वत लेते हुए सरपंच और उसके बेटे को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने दोनों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के ताहत मामला दर्ज कर कार्रवाई की है।

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close