Main Slideउत्तर प्रदेशबड़ी खबर

लखनऊ : सड़क किनारे खड़े ट्रक में घुसी कैब,तीन की सांसें थमीं,शव देख पत्नी और बेटा हुए बेहोश

बुधवार आधी रात को लखनऊ के मड़ियांव की सीतापुर रोड पर लखनऊ आ रही कैब अनियंत्रित होकर सड़क किनारे खड़े ट्रक के पीछे घुस गई।दर्दनाक हादसे में प्राणि उद्यान के कर्मचारी छोटेलाल(43),उसकी सास सीता देवी(61)और चालक मनीष वैश्य(32)की मौत हो गई।छोटेलाल की पत्नी 38 वर्षीय मंजू को गंभीर चोटें आई हैं।एएसपी ट्रांसगोमती राजेश कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि मंजू को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

हादसा सेवा अस्पताल के सामने हुआ।छोटेलाल मूल रूप से सीतापुर के कमलापुर कसमंडा का रहने वाला था और यहां न्यू डालीबाग स्थित जू कॉलोनी में पत्नी के साथ रहता था।बुधवार शाम वह कैब बुक कराकर कसमंडा गया था।उसके साथ रेलवे से सेवानिवृत्त इंदिरानगर निवासी सास सीता देवी भी थीं।रिश्तेदारों और परिचितों से मिलने के बाद रात 11 बजे तीनों लखनऊ को निकले।कैब इंदिरानगर ए ब्लॉक निवासी मनीष चला रहा था।एक बजे के आसपास तेज रफ्तार कैब सीतापुर रोड पर सेवा अस्पताल के सामने सड़क किनारे खड़े ट्रक के पीछे घुस गई।

आसपास खडे़ ट्रकों के चालकों और फुटपाथ पर सो रहे लोगों में तेज आवाज से हड़कंप मच गया।घटनास्थल पर भीड़ जुट गई।सूचना पाकर पुलिस पहुंची।कार में फंसे लोगों को किसी तरह निकालकर अस्पताल भेजा गया,जहां चिकित्सकों ने छोटेलाल और सीता देवी को मृत घोषित कर दिया।मंजू व मनीष को आईसीयू भेजा गया।कुछ देर बाद मनीष ने भी दम तोड़ दिया।

पत्नी प्रिया उर्फ मोनी और बेटा रुद्र मनीष का शव देखते ही गश खाकर गिर पड़े।पिता अनिल व अन्य परिवारीजनों ने दोनों को संभाला।प्रिया ने बताया कि पति देर रात आने की बात कहकर निकले थे।रात करीब 11 बजे सीतापुर से चलने से पहले मनीष ने पत्नी को फोन भी किया था।उसकी मौत से परिवार में कोहराम मचा है।उधर,छोटेलाल और मंजू की कोई संतान नहीं थी।ट्रॉमा सेंटर में भर्ती मंजू की हालत गंभीर बताई जा रही है।अस्पताल पहुंचे परिवारीजनों एक ओर मंजू की देखरेख में लगे रहे तो दूसरी ओर दोनों शवों के पोस्टमार्टम की औपचारिकता में उलझे रहे।देर रात तक मंजू को नहीं बताया गया कि उसके पति और मां की मौत हो चुकी है।

लोगों का कहना है की हादसा ट्रक चालक की लापरवाही से हुआ।बताया कि सीतापुर रोड अत्यंत व्यस्त मार्ग है।इस रूट पर हर वक्त वाहन चलते रहते हैं।मड़ियांव थाने से सीतापुर जनपद की सीमा तक सड़क के दोनों ओर जगह-जगह लंबी दूरी वाले लोडेड ट्रक खड़े रहते हैं।इनकी वजह से अक्सर हादसे होते रहते हैं।इंस्पेक्टर विपिन कुमार सिंह का कहना है कि ट्रक चालक की लापरवाही से दुर्घटना हुई।मृतक के परिवारीजनों की ओर से शिकायत का इंतजार किया जा रहा है।

लखनऊ।नवाब वाजिद अली शाह प्राणि उद्यान,लखनऊ के कर्मचारी छुटन्ने की सीतापुर रोड पर कार एक्सीडेंट में मृत्यु पर जू कर्मियों ने शोक जताया है।निदेशक जू आरके सिंह ने बताया कि छुटन्ने सीतापुर से पत्नी मंजू, सास सीता संग लौट रहे थे।रास्ते में उनका वाहन सीतापुर हाईवे पर खड़े ट्रक से टकरा गया।हादसे में छुटन्ने व उनकी सास की मौत हो गई।मंजू की हालत गंभीर बनी हुई है।हादसे पर प्राणि उद्यान में शोक सभा के बाद मौन रखकर दिवंगतों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई।

Loading...
Loading...
loading...
Tags

Related Articles

Live TV
Close