तेज बारिश से सरकारी योजनाओं की पोल खुली, मानवता हुयी शर्मशार

तेज बारिश से सरकारी योजनाओं की पोल खुली, मानवता हुयी शर्मशार

गाजीपुर में जिला मुख्यालय से मात्र 3 किलोमीटर की दूरी पर बसे एक गांव फतेहपुर सिकंदर से एक ऐसी तस्वीर सामने आयी है. जो सरकारी योजनाओं की पोल तो खोलती ही है,मानवता को भी शर्मशार करती है. यहां 10 दिनों पूर्व हुई तेज बारिश से पूरे गांव में पानी भर गया था. ऐसे में महिलाओं के सामने खाना कहां बनायें ये समस्या खड़ी हो गयी है. 

कुछ घरों में शौचालय ही एक ऐसी जगह बची जहां पानी नही था क्योंकि वो कुछ ऊंचाई पर बना था, तो महिलाओं ने मजबूरी में शौचालय को ही अपना किचन बना डाला. ये शौचालय इसलिए पानी से बच गये क्योंकि ये सरकार की ओडीएफ योजना के तहत नही बने है. गांव में जितने भी सरकारी शौचालय हैं वो अभी पानी मे डूबे हुए हैं और महिलायें दिन में भी रेलवे पटरी के किनारे शौच जाने को मजबूर हैं

दरअसल जनपद ग़ाज़ीपुर में पिछले दिनों तेज बारिश हुई जिसका पानी जगह-जगह अभी भी भरा हुआ है पर फतेहपुर सिकंदर गांव में स्थिति अभी भी भयावह है. यहां बारिश का पानी लोगों के घरों में घुस गया किचन भी पानी मे डूब गये. तब गांव की एक महिला ने अपने शौचालय को ही किचन बना लिया क्योंकि उसका शौचालय कुछ ऊंचाई पर बना था. अन्य महिलाओं ने भी मजबूरी में शौचालय को ही किचन बना लिया और उसमें खाना बनाना शुरू किया क्योंकि परिवार का पेट तो भरना ही था. शौचालय में खाना बनाने वाली किरन बताती हैं कि पूरे घर मे बरसात का पानी भर गया है जिसकी वजह से मुझे शौचालय में ही खाना बनाना पड़ रहा है. शौचालय में खाना बनने की वजह से हमलोगों को शौच के लिये रेलवे पटरी पर जाना पड़ता है.

 

गाजीपुर के एसडीएम सदर से बात करने पर उन्होंने सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश देने की बात कही. हर साल ग्रामीण और सहरी इलाको के विकास के लिए लाखों करोड़ों का बजट आता है. लेकिन बावजूद महिलाओं के आत्मसम्मान की रक्षा करने वाली सरकार के वो दावें सिर्फ कोरे नजर आते हैं.

You Might Also Like