बिहार : महादिलत बस्ती के 50 घर जलकर खाक, 12 घंटे के बाद भी नहीं पहुंचा प्रशासन

बिहार : महादिलत बस्ती के 50 घर जलकर खाक, 12 घंटे के बाद भी नहीं पहुंचा प्रशासन

बिहार के बख्तियारपुर के रुपस मरवाही गांव में कल (मंगलवार की) शाम आग की चपेट में आने से 50 घर जलकर खाक हो गए. इस घटना के 12 घंटे बीत जाने के बाद भी प्रशासन जायजा लेने नहीं पहुंचा है. आगलगी की वजह से बेघर हुए लोग खाक छान रहे हैं. गैस सिलेंडर फटने से लगी थी आग. गंगा की गोद में होने के कारण घटनास्थल तक अग्निशमन दस्ता भी नहीं पहुंच सका.

बाढ़ अनुमंडल के सालिमपुर थाना क्षेत्र के रुपस मरवाही गंगा दियारा इलाके में महादलित बस्ती में मंगलवार की रात भयानक आग लग गई. घर में खाना बनाने के दौरान गैस सिलेंडर फटने के कारण आग लगी. एक गैस सिलेंडर फटने के साथ ही अगल-बगल के कई घरों को अपनी चपेट में ले लिया. पलक झपकते ही की घर जलकर खाक हो गए.

एक के बाद एक कुल पांच गैस सिलेंडर फट गए, जिसके कारण आग बेकाबू हो गई. ग्रामीणों ने आग पर काबू पाने की कोशिश की, लेकिन आग की लपट इस कदर बढ़ती गई कि किसी के बस की बात नहीं रही. चारों तरफ से गंगा नदी से घिरे होने के कारण वहां तक अग्निशमन दस्ता भी नहीं पहुंच सका. करीब दो से ढाई किलोमीटर तक का गंगा का सफर रात में तय करना भी संभव नहीं था.

प्रशासन भी हाथ पर हाथ रखकर सुबह होने का इंतजार करता रहा. कहा गया था कि सुबह होते ही अनुमंडल प्रशासन और बख्तियारपुर प्रखंड के अधिकारी घटनास्थल का जायजा लेने पहुंचेंगे, लेकिन घटना के 12 घंटे बीत जाने के बावजूद कोई प्रशासन को इसकी सुधि नहीं आई है. इस घटना में करीब 50 घर जलकर पूरी तरह से खाक हो गए हैं. वहीं, आग की लपट में आने से कई अन्य घरों को भी भारी नुकसान पहुंचा है. इसमें कई मवेशी भी जलकर खाक हो गए.

सलीमपुर थाना के थानाध्यक्ष अजय कुमार भी मौके पर पहुंचने के बाद वहां का सही आकलन करने की बात कही है. दुर्गम क्षेत्रों में अग्निशमन की व्यवस्था के लिए सरकार को एक बार फिर से पहल करने की जरूरत है.

You Might Also Like