3 साल बाद पुलिस के हत्थे चढ़ा सीरियल चाइल्ड रेपिस्ट

3 साल बाद पुलिस के हत्थे चढ़ा सीरियल चाइल्ड रेपिस्ट

नवी मुंबई पुलिस ने उस सीरियल चाइल्ड रेपिस्ट को गिरफ्तार कर लिया है, जिसके खिलाफ मुंबई और आसपास के इलाकों में 20 मामले दर्ज हैं. 10 से 13 साल तक की नाबालिग लड़कियों के साथ बलात्कार और छेड़छाड़ करने वाले इस दरिंदे को पुलिस पिछले तीन साल से तलाश कर रही थी.

नवी मुंबई अपराध शाखा इकाई 1 के सहायक पुलिस इंस्पेक्टर (एपीआई) राहुल राक ने बताया कि आरोपी की पहचान हो गई है. वो नालसोपारा, डिंडोशी, सीबीडी बेलापुर, संपाडा, खरगार, एपीएमसी और कोपरखैराने क्षेत्र में 15 से ज्यादा रेप के मामलों में वॉन्टेड था. एपीआई राख ने कहा कि आरोपी केवल 10 से 13 वर्ष की लड़कियों को अपना शिकार बनाता था.

आरोपी के सिर पर था इनाम

पुलिस ने आरोपी के सिर पर 25 हजार का इनाम घोषित कर रखा था. पुलिस के मुताबिक आरोपी मीरा रोड की शिया हाउसिंग सोसाइटी का रहने वाला है. उसने पूछताछ में पुलिस को बताया कि पिछले पांच महीनों से वह बेरोजगार है और इससे पहले कि वह सेल्स एग्जीक्यूटिव के रूप में काम करता था.

ऐसा करता था वारदात

पुलिस ने बताया कि आरोपी उस वक्त लड़कियों को निशाना बनाता था, जब वे अकेली होती थीं. सबसे पहले वो अपने शिकार की पहचान करता था, फिर उस पर नजर बनाए रखता था. आरोपी अकेली नाबालिग लड़कियों को ढूंढकर उनसे संपर्क करता था. वो उनसे मिलकर बताता था कि उनके पिता ने उन्हें कुछ काम के लिए बुलाया है और वह उनके पिता को बहुत अच्छी तरह से जानता है. लड़कियों को भरोसा दिलाने के बाद वह उन्हें अलग-अलग स्थानों या निर्माणाधीन स्थलों पर ले जाता था. और वहां उनके साथ छेड़छाड़ या बलात्कार की घटनाओं को अंजाम देता था.

ऐसे पकड़ में आया सीरियल रेपिस्ट

पुलिस शिद्दत से आरोपी की तलाश कर रही थी. इसी बीच पुलिस कई जगहों से सीसीटीवी फुटेज मिली. जिनमें आरोपी को पीड़ित लड़कियों के साथ देखा जा सकता था. इसके बाद आरोपी के स्केच बनाकर पुलिस ने सभी थानों को दिए. तभी पुलिस की एक टीम को पता चला कि आरोपी मीरा रोड का निवासी हो सकता है. इसी के चलते पिछले 20 दिनों से पुलिस अधिकारियों की एक टीम ने मीरा रोड पर जाल फैलाया. पुलिस के जवान अलग अलग भेष बदलकर इलाके में घूमते रहे.

26 सितंबर को पुलिस ने आरोपी से मिलता जुलता एक शख्स देखा. जैसे ही पुलिसवाले उस शख्स के पास पहुंचे. वो भागने लगा. लेकिन वो बचने वाला नहीं था. पुलिस ने दौड़ा कर उसे पकड़ लिया. जांच में पुलिस का शक ठीक निकला वो आरोपी ही था.

नवी मुंबई पुलिस ने पिछले कुछ महीनों में नाबालिग लड़कियों के साथ बलात्कार के 9 मामले दर्ज किए थे, जबकि नलासापोरा पुलिस ने हाल ही में 2 मामले दर्ज किए थे. डिंडोशी पुलिस ने भी इसी तरह का मामला दर्ज किया. अब पुलिस उम्मीद जता रही है कि आरोपी के पकड़े जाने के बाद ऐसे और भी मामले सामने आ सकते हैं. आरोपी वर्ष 2015 से ऐसी वारदातों को अंजाम दे रहा था.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पकड़े जाने के बाद भी आरोपी को अपने गुनाहों का कोई पछतावा नहीं है. पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश किया. जहां से उसे 6 अक्टूबर तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

You Might Also Like