आखिर मुंगेर और आम अपराधियों तक कैसे पहुंच रही एके-47 :तेजस्वी

आखिर मुंगेर और आम अपराधियों तक कैसे पहुंच रही एके-47 :तेजस्वी

मुजफ्फरपुर के पूर्व मेयर समीर कुमार की एके-47 राइफल से हत्या और मुंगेर 12 एके-47 बरामद होने के बाद से बिहार की कानून-व्यवस्था सवालों के घेरे में है. पूर्व उप-मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा कि बिहार में ‘एके-47’ का राज है. उन्होंने कहा कि आज के समय में बिहार पुलिस से ज्यादा एके-47 राइफल ‘स्टेट स्पॉन्सर्ड क्रिमनल’ के पास है.

तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा, ”AK-47, AK-47, AK-47, AK-47, AK-47, AK-47, AK-47, AK-47, AK-47, AK-47s..” उन्होंने आगे कहा, ”बिहार में एके-47 राज है. बिहार पुलिस से ज्यादा एके-47 राइफल ‘स्टेट स्पॉन्सर्ड क्रिमनल’ के पास है. पिछले 13 वर्षों से बिहार में सत्तारूढ़ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इसके लिए धन्यवाद.”

समीर कुमार की 23 सितंबर को मुजफ्फपुर में अपराधियों ने सरेराह हत्या कर दी थी. समीर सिंह की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई कि एके-47 की अंधाधुंध गोलीबारी में पूर्व महापौर को 16 गोलियां लगीं, जबकि उनके चालक को 12 गोलियां. मुजफ्फरपुर की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरप्रीत कौर ने कहा कि अपराधियों ने एके-47 का इस्तेमाल किया था.

इसके ठीक बाद मुंगेर में एक कुएं से 12 एके-47 बरामद किये गये थे. ध्यान रहे कि बिहार का मुंगेर क्षेत्र अवैध हथियार बनाने के लिए पूरे देश में चर्चित है. सवाल उठ रहे हैं कि आखिर मुंगेर और आम अपराधियों तक एके-47 कैसे पहुंची?

पहले भी बिहार में एके-47 हथियार से लोगों की हत्या हो चुकी है. आईएएनएस न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक, दरभंगा में दो इंजीनियरों की हत्या और फिर राजधानी से सटे कच्ची दरगाह इलाके में लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) नेता बाहुबली बृजनाथी सिंह की हत्या में भी एके-47 से ही की गई थी.

You Might Also Like