प्रधानमंत्री मोदी ने अध्यात्म के साथ ही जलविद्युत व नवीकरणीय ऊर्जा को उत्तराखंड का ऊर्जा स्रोत करार दिया, क्षेत्रों में ठोस पहल करने की सीख भी दी।

प्रधानमंत्री मोदी ने अध्यात्म के साथ ही जलविद्युत व नवीकरणीय ऊर्जा को उत्तराखंड का ऊर्जा स्रोत करार दिया, क्षेत्रों में ठोस पहल करने की सीख भी दी।

 उत्तराखंड में जुटे देश-दुनिया के पूंजी निवेशकों और बिजनेस लीडर्स को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश बहुत बड़े और चौतरफा परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है। भारत वर्ल्ड ग्रोथ का प्रमुख इंजन बनने वाला है। निवेशकों को उत्तराखंड में निवेश के लिए प्रोत्साहित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उत्तराखंड में अलग ही स्प्रिचुअल इको जोन (एसइजेड) है। इस सेज की ताकत किसी अन्य सेज (स्पेशल इकोनोमिक जोन) से लाखों गुना ज्यादा है। प्रधानमंत्री मोदी ने अध्यात्म के साथ ही जलविद्युत व नवीकरणीय ऊर्जा को उत्तराखंड का ऊर्जा स्रोत करार देकर राज्य को इन क्षेत्रों में ठोस पहल करने की सीख भी दी। प्रधानमंत्री मोदी ने अध्यात्म के साथ ही जलविद्युत व नवीकरणीय ऊर्जा को उत्तराखंड का ऊर्जा स्रोत करार दियारविवार को रायपुर स्थित अंतर्राष्ट्रीय खेल स्टेडियम में दो दिनी उत्तराखंड इन्वेस्टर्स समिट का उद्घाटन करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की पैरवी की। उन्होंने कहा कि राज्यों को अपनी क्षमता को पहचानकर आगे बढऩा होगा। हर राज्य सपना देखे तो देश की विकास यात्रा और साथ ही उसे ताकत बनने से रोका नहीं जा सकता। हमारे राज्यों की क्षमता दुनिया के कई छोटे देशों से ज्यादा है। मेक इन इंडिया में उत्पादन पूरे विश्व के लिए होना चाहिए। 

जीएसटी सबसे बड़ा टैक्स रिफॉर्म

पिछले चार सालों में अर्थव्यवस्था में आए सुधार और इसके प्रभावों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि मिडिल क्लास का तेजी से प्रसार हो रहा है। 80 करोड़ से अधिक युवा सामर्थ्य से भरपूर हैं। देश में आर्थिक सुधार हो रहे हैं। केंद्र और राज्यों ने मिलकर 10 हजार से ज्यादा फैसले लिए हैं। 1400 से ज्यादा कानूनों में संशोधन किया गया। देश में अब कारोबार आसान हुआ है तो बैंकिंग सिस्टम को मजबूती मिली है। जीएसटी ने देश को सिंगल मार्केट में बदल दिया है। इसे उन्होंने आजादी के बाद सबसे बड़ा टैक्स रिफॉर्म करार दिया।

अर्थव्यवस्था हुई मजबूत

प्रधानमंत्री ने कहा कि अर्थव्यवस्था मजबूत हुई है। महंगाई नियंत्रण में चार साल में देश में 10 हजार किमी सड़कों का निर्माण हुआ। रोजाना करीब 27 किमी सड़कें बनाई गईं। यह आंकड़ा पहले की तुलना में दोगुना है। रेलवे लाइन भी दोगुनी हुईं। 400 रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण होगा। एविएशन सेक्टर रिकॉर्ड गति से आगे बढ़ रहा है। 100 नए एयरपोर्ट व हेलीपैड बनाए जा रहे हैं। देश-विदेश में निवेश के लिए सर्वोत्तम माहौल है। इन्फ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में जितना निवेश अब हो रहा है, पहले नहीं हुआ।  

You Might Also Like