ट्रंप प्रशासन से एक और इस्तीफा, UN में अमेरिकी एंबेसडर निक्की हेली ने पद छोड़ा

ट्रंप प्रशासन से एक और इस्तीफा, UN में अमेरिकी एंबेसडर निक्की हेली ने पद छोड़ा

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की स्थायी प्रतिनिधि निक्की हेली ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. हालांकि वह कब तक अपने पद पर बनी रहेंगी इसका खुलासा नहीं हो सका है. लेकिन स्थानीय मीडिया में खबर है कि राष्ट्रपति ट्रंप ने इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. कहा जा रहा है कि वह साल के अंत तक पद पर बनी रहेंगी.

हेली के इस्तीफे के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का बयान आ गया है. ट्रंप ने कहा कि निक्की हेली ने शानदार काम किया. वह ब्रेक लेने के लिए साल के अंत में अपना पद छोड़ देंगी.

इससे पहले व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव साराह हकबी सैंडर्स की ओर से कहा गया था कि भारतीय मूल की निक्की हेली मंगलवार को स्थानीय समय के अनुसार सुबह साढ़े 10 बजे राष्ट्रपति ट्रंप से मिलने वाली हैं. मुलाकात को लेकर ट्रंप ने भी ट्वीट किया था. नवंबर, 2016  में संयुक्त राष्ट्र में हेली की नियुक्ति हुई थी.

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की स्थायी प्रतिनिधि बनने से पहले हेली साउथ कारोलिना की गवर्नर थीं. वह इस पद पर पहुंचने वाली देश की पहली महिला भी थीं. वह 2014 में फिर से साउथ कारोलिना की गवर्नर चुनी गईं.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए यह बड़ा झटका माना जा रहा है. पिछले कुछ समय से राष्ट्रपति ट्रंप के करीबियों का इस्तीफा देने का सिलसिला जारी है.

सितंबर में ट्रंप को देश के लिए “शर्मनाक” बताने वाले एक प्रतिष्ठित एडमिरल (सेवानिवृत्त) एडमिरल विलियम मैकरावेन ने रक्षा मंत्रालय सलाहकार निकाय से इस्तीफा दे दिया था. मैकरावेन ने अगस्त में डिफेंस इनोवेशन बोर्ड से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने 2014 में पाकिस्तान में विशेष अभियान चलाकर अल-कायदा के सरगना ओसामा बिन लादेन को मारने वाली स्पेशल फोर्सेज का संचालन किया था.

जून में एस्टोनिया में अमेरिकी राजदूत जेम्स डी. मेलविले जूनियर ने भी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की टिप्पणियों से निराश होकर इस्तीफा दे दिया था. जेम्स तब 2018 में राज्य विभाग को जल्दी छोड़ने वाले तीसरे एंबेसडर बने.

ट्रंप के साथ प्रेम संबंध अफवाह

एक समय संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की शीर्ष राजनयिक भारतीय मूल की अमेरिकी निक्की हेली राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पसंदीदा साथियो में मानी जाती थी. साथ ही ट्रंप के साथ उनके प्रेम संबंधों की अफवाह भी उड़ती रही. जनवरी में उन्होंने इस मसले पर अपनी सफाई भी दी थी.

निक्की हेली ने ऐसी अफवाहों को ‘बहुत ही अपमानजनक’ और ‘घृणास्पद’ करार दिया था. तब अमेरिका के किसी भी राष्ट्रपति के प्रशासन में कैबिनेट रैंक की पहली भारतीय अमेरिकी हेली ने पोलिटिको के साथ साक्षात्कार में ऐसी अफवाहों को ‘बहुत अपमानजनक और घृणास्पद’ कहकर खारिज किया था.

हेली ने कहा था, ‘एक समय मैं एयरफोर्स वन में थी, लेकिन जब मैं कमरे में थी तब वहां बहुत सारे लोग थे.’ उन्होंने न्यूयार्क के लेखक माइकल वुल्फ की पुस्तक ‘फायर एंड फ्यूरी’ में लगाए गए आरोपों पर कहा, ‘वह कहते हैं कि मैं ओवल (राष्ट्रपति कार्यालय) में राष्ट्रपति के साथ अपने राजनीतिक करियर के बारे में ढेरों बातें कर रही थी. जबकि मैंने राष्ट्रपति से कभी अपने भविष्य के बारे में बात नहीं की और मैं उनके साथ कभी अकेली नहीं थी.’

You Might Also Like