कर्मचारियों के बीच बोले राहुल- मॉडर्न इंडिया का मंदिर है HAL, सरकार ने किया अपमान

कर्मचारियों के बीच बोले राहुल- मॉडर्न इंडिया का मंदिर है HAL, सरकार ने किया अपमान

बेंगलुरु में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के कर्मचारियों से मुलाकात की. राहुल गांधी ने कहा कि HAL में काम करना गर्व की बात है. राफेल बनाने का सौदा एचएएल को ना मिलने से नाराज राहुल गांधी ने कहा कि जब देश आजाद हुआ तो कुछ सामरिक महत्व की संस्थाएं बनाई गईं, HAL ये एक ऐसी ही संस्था है.

राहुल ने कहा कि देश के लिए आपने जो काम किया है, वो शानदार है. उन्होंने कहा कि देश की रक्षा करने के लिए भारत एचएएल के कर्मचारियों का आभारी है. राहुल गांधी ने कहा कि जिस तरह आईआईटी उच्च शिक्षा के क्षेत्र में देश के की प्रीमियम संस्था है, एयरोस्पेस के क्षेत्र में वही स्थान एचएचएल है. उन्होंने कहा कि  HAL ने देश में वैज्ञानिक सोच का निर्माण किया है.

राहुल गांधी ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के एक बयान का जिक्र करते हुए कहा, ‘जब ओबामा कहते हैं कि भारत और चीन ही ऐसे देश हैं, जो भविष्य में हमारा मुकाबला कर सकते हैं. उनका यह बयान दर्शाता है कि आपने ऐसा काम किया है, जिसके चलते हम अमेरिका से मुकाबला कर सकते हैं.’

राहुल गांधी ने कहा, ‘मैं यहां आपसे यह सुनने के लिए आया हूं कि इस सामरिक संपत्ति को और अधिक प्रभावी कैसे बनाया जा सकता है और आप जिन कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं, उनका समाधान कैसे हो सकता है?’ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि विपक्ष में होने के बावजूद भी वो इन परेशानियों को दूर करने की कोशिश करेंगे.

राहुल गांधी ने कहा, ‘मैं यहां आपसे यह सुनने के लिए आया हूं कि इस रणनीतिक संपत्ति को और अधिक प्रभावी कैसे बनाया जा सकता है और आप जिन कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं, उनका समाधान कैसे हो सकता है? राहुल गांधी के बाद एचएएल के सेवानिवृत्त कर्मचारी सिराजुद्दीन ने अपनी बात रखी.

राफेल डील एचएएल से लेकर रिलायंस डिफेंस को देने पर गुस्सा जाहिर करते हुए उन्होंने कहा, ‘हमें अपमानित करके छोड़ दिया गया है. 70 साल के अनुभव वाली एचएएल को राफेल समझौते से बाहर फेंक दिया गया है. मुझे समझ नहीं आता कि एक बड़ी और अनुभवी कंपनी जिसे सुधारना चाहिए था, आप उसे मार रहे हो.’

सिराजुद्दीन ने कहा, ‘हमारा एचएएल दक्षिण-पूर्वी एशिया में अग्रणी विमानन उद्योग है. क्या आप इस उद्योग को मारना चाहते हैं? यह एक अपमान और चोट है. हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे. जीवन में पहली बार मैंने सरकार को रोजगार की मांग करने के कार्यक्रम में भाग लेने के खिलाफ एक निर्देश परिपत्र जारी करने को देखा है.’

इसके बाद पूर्व एचएएल कर्मचारी महादेवन ने अपने विचार करते हुए कहा, ‘बेंगलुरु भारत की सार्वजनिक क्षेत्र की राजधानी थी. हमारे रोजगार की रक्षा करना बहुत महत्वपूर्ण है. नए राफेल समझौते में प्रौद्योगिकी का कोई हस्तांतरण नहीं है.’

महादेवन के बाद भारतीय वायुसेना के पूर्व अभियंता बाबू टी राघव ने राहुल गांधी के समक्ष अपनी बात रखी. उन्होंने कहा, ‘जब भी एचएएल प्रतिनिधियों ने हमारे स्क्वाड्रन का दौरा किया, हम जानते थे कि HAL में कई नई उम्मीदें और तकनीकें हैं. एचएएल और भारतीय वायुसेना एक यान के दो पंखों की तरह हैं. शीत युद्ध के दौरान एचएएल इकलौती ऐसी कंपनी थी, जिसके पास रूसी तकनीकों के साथ काम करने का अवसर था. यह एशिया में सबसे अच्छा संगठन है.’

इस दौरान एचएएच के कर्मचारियों ने सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों को खत्म करने के सरकार के कदम के खिलाफ प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दी. पूर्व कर्मचारियों को सुनने के बाद राहुल गांधी ने फिर से संबोधित किया. HAL के कर्मचारियों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि हमारा सभी का मानना है कि HAL आधुनिक भारत का मंदिर है. सरकार ने इसके कर्मचारियों का अपमान किया है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘सरकार के एक व्यक्ति ने कहा कि HAL के पास राफेल विमान बनाने की क्षमता नहीं है, मैं पूछना चाहता हूं कि जिनको कॉन्ट्रैक्ट मिला है, उनके पास क्या बनाने की क्षमता है. बीते 70 वर्षों में HAL ने सुखोई जैसे कई विमान बनाए, लेकिन वे लोग कह रहे हैं कि HAL के पास क्षमता नहीं है.’ राहुल गांधी ने कहा कि HAL और अंबानी की कंपनी के बीच कोई मुकाबला नहीं हैं.

उन्होंने कहा, ‘राफेल डील HAL से छीनकर सरकार ने रिलायंस डिफेंस को दे दिया, जिससे आपको झटका लगा है, जिसके लिए मैं सरकार की तरफ से दुख जताता हूं. हालांकि मैं इस संबंध में कुछ कर नहीं सकता हूं.’

इससे पहले बेंगलुरु में उन्होंने कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने मुलाकात की. ये मुलाकात कुमारकृपा गेस्टहाउस में हुई. दोनों नेताओं के बीच कर्नाटक सरकार के कामकाज पर चर्चा हुई. दो दिन पहले ही कर्नाटक की सरकार में बसपा के एकमात्र मंत्री एन महेश ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. इस घटना के बाद पैदा हुए सियासी घटनाक्रम पर भी दोनों नेताओं ने चर्चा की. कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस की गठबंधन सरकार है.

You Might Also Like