भारत समेत गैर यूरोपीय नागरिकों के लिए, महंगा होगा ब्रिटिश वीजा

भारत समेत गैर यूरोपीय नागरिकों के लिए, महंगा होगा ब्रिटिश वीजा

ब्रिटेन सरकार दिसंबर से आव्रजन स्वास्थ्य अधिभार (इमीग्रेशन हेल्थ सरचार्ज या आइएचएस) दोगुना करने जा रही है। इस कदम से भारत समेत गैर यूरोपीय देशों के नागरिकों, छात्रों, पेशवरों और पारिवारिक सदस्यों के लिए वीजा शुल्क में बढ़ोतरी हो जाएगी। आइएचएस की शुरुआत अप्रैल 2015 में हुई थी।

नई दरें लागू होने के बाद आइएचएस 200 पौंड प्रतिवर्ष से बढ़कर 400 पौंड प्रतिवर्ष हो जाएगा। जबकि छात्रों के लिए यह 150 पौंड प्रतिवर्ष से बढ़कर 300 पौंड प्रतिवर्ष हो जाएगा। इस कदम से सरकार को अपनी राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) के लिए 22 करोड़ पौंड अतिरिक्त जुटने की उम्मीद है।

यह सरचार्ज अदा करने से छह महीने या इससे अधिक समय के लिए ब्रिटेन जाने वालों को ब्रिटिश नागरिकों की तरह राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवाओं की सुविधा लेने की अनुमति मिल जाती है।

ब्रिटेन की आव्रजन मंत्री कैरोलीन नोक्स ने बताया कि इस आशय का प्रस्ताव गुरुवार को हाउस ऑफ कॉमंस में पेश किया जाएगा। संसद की मंजूरी मिलते ही इसे दिसंबर से लागू कर दिया जाएगा। इससे अर्जित अतिरिक्त धनराशि को सीधे तौर पर विश्वस्तरीय स्वास्थ्य व्यवस्था की गुणवत्ता बनाए रखने पर खर्च किया जाएगा।

सरकार का कहना है कि 2015 में सरचार्ज शुरू किए जाने के बाद से 60 करोड़ पौंड से ज्यादा की धनराशि जुटाई जा चुकी है। ब्रिटेन के स्वास्थ्य विभाग का आकलन है कि एनएचएस का लाभ लेने वाले प्रत्येक व्यक्ति पर प्रतिवर्ष 470 पौंड खर्च होते हैं।

You Might Also Like