निर्यात 2.15 फीसदी गिरा, व्यापार घाटा 5 महीने के निचले स्तर पर

निर्यात 2.15 फीसदी गिरा, व्यापार घाटा 5 महीने के निचले स्तर पर

देश के निर्यात में सितंबर में 2.15 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है, जबकि देश का व्यापार घाटा पिछले पांच महीने के निचले स्तर पर आ गया है. इसके पीछे कच्चे तेल की बढ़ी कीमतों की अहम भूमिका है. उद्योग मंत्रालय की ओर से सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, निर्यात में गिरावट का मुख्य कारण डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट है. साल 2017 के सितंबर में डॉलर में करीब 26 फीसदी की तेजी दर्ज की गई थी, क्योंकि जीएसटी लागू होने से पहले कीमतों में काफी कटौती की गई थी. इससे निर्यात में काफी तेजी आई थी.

मंत्रालय ने अपनी समीक्षा में कहा, निर्यात में फिर तेजी आएगी. इस साल के अक्टूबर के आंकड़ों से आगे के बारे में पता चलेगा. आंकड़ों के मुताबिक, सितंबर में पेट्रोलियम उत्पाद, ऑर्गेनिक, इनऑर्गेनिक केमिकल्स, ड्रग्स और फार्मास्यूटिकल्स के निर्यात में सबसे ज्यादा तेजी रही.  वहीं, दूसरी तरफ सितंबर में आयात में 10.45 फीसदी की तेजी दर्ज की गई. बयान में कहा गया है कि सितंबर में व्यापार घाटा 13.98 अरब रुपए का रहा, जो कि पिछले पांच महीनों का सबसे न्यूनतम स्तर है, जबकि कच्चे तेल की कीमतें अपने उच्च स्तर पर हैं.

इंजीनियरिंग एक्सपोर्ट प्रमोशन कौंसिल ऑफ इंडिया (ईईपीसी) ने कहा कि सितंबर के आंकड़ों में गिरावट यह दिखाता है कि डॉलर के मुकाबले रुपए की गिरती कीमत से निर्यातकों को कोई फायदा नहीं हुआ है. ईईपीसी के अध्यक्ष रवि सहगल ने एक बयान में कहा, सितंबर में निर्यात में 2.15 फीसदी की गिरावट यह दिखाता है कि रुपए की गिरती कीमत का कोई फायदा नहीं हुआ है.

You Might Also Like