प्रयाग स्टेशन जहां फर्श पर बैठकर ट्रेन का इंतजार करते हैं यात्री

प्रयाग स्टेशन जहां फर्श पर बैठकर ट्रेन का इंतजार करते हैं यात्री

हर ओर लगे मिट्टी के ढेर, टूटे फर्श, सूखी पानी की टोटियां, बंद टाइम टेबल डिस्प्ले बोर्ड। इन दिनों कुछ ऐसा ही दृश्य है प्रयाग स्टेशन का। कुंभ के मद्देनजर यहां निर्माण कार्य चल रहा है, जिसके चलते हर ओर अव्यवस्था का आलम है। यात्रियों को इसके चलते दिक्कत झेलनी पड़ रही है। उन्हें बैठने के लिए न कुर्सियां मिल रही है, न पीने के लिए पानी। अधिकतर यात्री फर्श में बैठकर टे्रन का इंतजार करते नजर आते हैं।

 प्रयाग स्टेशन से लखनऊ, प्रतापगढ़, फैजाबाद रूट की ट्रेनों का परिचालन अधिक होता है। इसके मद्देनजर प्लेटफार्म पर 24 घंटे यात्रियों की भीड़ रहती है। इधर कुंभ के मद्देनजर स्टेशन के एक, दो व तीन नंबर प्लेटफार्म के फर्श का पत्थर बदलने का काम चल रहा है। इसके अलावा एफओबी (फुट ओवर ब्रिज) व प्लेटफार्म में नाली बनाई जा रही है। इसके चलते प्लेटफार्म में खोदाई की गई है। गड्ढा खोदने के बाद निकली मिट्टी को प्लेटफार्म पर डंप किया गया है। इसके चलते यात्रियों को चलने व बैठने में दिक्कत हो रही है। प्लेटफार्म की सफाई व्यवस्था लचर है।

विलंब हो गया काम 

प्रयाग स्टेशन में चल रहे काम को अक्टूबर माह के अंत तक पूरा करने का लक्ष्य था। हालांकि उसके अनुरूप अभी कुछ हुआ नहीं। एफओबी का सिर्फ गार्डर रखा गया है। नालियों के लिए खोदाई हुई है। नाली बनने के बाद ही प्लेटफार्म पर पत्थर बदलने का काम शुरू हो पाएगा। इसमें अभी एक माह से अधिक का समय लगेगा।

प्लेटफार्म में निर्माण कार्य चलने से यात्रियों को दिक्कत हो रही है। यह काम दिसंबर माह तक पूरा हो जाएगा, जिससे यात्रियों की दिक्कत खत्म हो जाएगी।

You Might Also Like