22 अक्‍टूबर, 1964 को जन्‍मे अमित शाह जब 14 साल के थे, तभी वे आरएसएस से जुड़कर उनकी शाखाओं में जाने लगे थे.

22 अक्‍टूबर, 1964 को जन्‍मे अमित शाह जब 14 साल के थे, तभी वे आरएसएस से जुड़कर उनकी शाखाओं में जाने लगे थे.

बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह का 22 अक्‍टूबर को जन्‍मदिन है. पिछले तीन दशकों से भी अधिक समय से नरेंद्र मोदी के सबसे करीबी अमित शाह इस वक्‍त प्रधानमंत्री के बाद देश के दूसरे सबसे शक्तिशाली राजनेता माने जाते हैं. अमित शाह के जन्‍मदिन के मौके पर उनके पीएम नरेंद्र मोदी से जुड़ाव के कुछ रोचक किस्‍सों पर आइए डालते हैं एक नजर:

1982 का साल
22 अक्‍टूबर, 1964 को जन्‍मे अमित शाह जब 14 साल के थे, तभी वे आरएसएस से जुड़कर उनकी शाखाओं में जाने लगे थे. कहा जाता है कि उसी कड़ी में 1982 के आस-पास अहमदाबाद की नारणपुरा शाखा में उनकी पहली मुलाकात नरेंद्र मोदी से हुई थी. उस वक्‍त नरेंद्र मोदी संघ के प्रचारक थे और तब तक अपनी कुछ पैठ बना चुके थे. 1983 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की सदस्‍यता ग्रहण करने के साथ ही अमित शाह ने सियासी दुनिया में कदम रखा. 1986 में उन्‍होंने बीजेपी ज्‍वाइन की. उसी दौरान नरेंद्र मोदी को भी संघ से बीजेपी में भेजा गया. इस तरह ये दोनों राजनेता लगभग एक ही दौर में बीजेपी में आए.

‘नरेंद्र भाई PM बनने के लिए तैयार हो जाइए’
गुजरात के सियासी गलियारों में एक बहुत मशहूर किस्‍सा प्रचलित है. कहा जाता है कि 1990 में अहमदाबाद के रेलवे स्‍टेशन के पास एक रेस्‍टोरेंट में नरेंद्र मोदी और अमित शाह बैठे हुए थे. उस वक्‍त ही अमित शाह ने चर्चा के दौरान कहा था कि नरेंद्र भाई आप देश का प्रधानमंत्री बनने के लिए तैयार हो जाइए. उन्‍होंने अपने राजनीतिक आकलन, सांगठनिक क्षमता के आधार पर ये बात कही थी. ये बात इसलिए बेहद महत्‍वपूर्ण मानी जाती है क्‍योंकि उस वक्‍त नरेंद्र मोदी, गुजरात के मुख्‍यमंत्री भी नहीं बने थे और केंद्र की राजनीति में बीजेपी बहुत बड़ी ताकत नहीं थी.   

You Might Also Like