UAE में बेनामी संपत्ति रखने वाले 44 पाकिस्तानियों में इमरान खान की बहन का भी नाम

UAE में बेनामी संपत्ति रखने वाले 44 पाकिस्तानियों में इमरान खान की बहन का भी नाम

पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट में वहां की फेडरल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (FIA) द्वारा सौंपी गई एक लिस्ट में प्रधानमंत्री इमरान खान की बहन समेत 44 अहम राजनेता और सरकारी अधिकारियों के नाम शामिल हैं जिनके नाम से संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में बेनाम संपत्ति है.

पाकिस्तानी अखबार, द डॉन के मुताबिक धन के अवैध हस्तांतरण के एक मामले में FIA ने यह लिस्ट अनुलग्नक के तौर पर चीफ जस्टिस मियां साकिब निसार की अगुवाई वाली तीन सदस्यीय पीठ को सौंपी है.  

FIA द्वारा सौंपी गई 44 लोगों की सूची में उन लोगों के नाम शामिल हैं जिन्होंने अन्य लोगों के नाम पर संपत्ति बनाई है. रिपोर्ट के मुताबिक इस सूची में इमरान खान की बहन अलीमा खानम का नाम संपत्ति के ‘बेनामीदार’ के तौर पर है. मामले में इमरान की बहन को डाक के साथ ई-मेल के जरिए एक नोटिस भी दी गई है, लेकिन उनके घर में काम करने वाले शख्स का कहना है कि वो विदेश में हैं.

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक इस सूची में सरकार के आर्थिक और ऊर्मा मामले के प्रवक्ता फारुख सलीम की मां का भी नाम शामिल है. जांच के मुताबित सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के नेता मुमताज अहमद मुस्लिम के नाम 16 संपत्तियां और पाकिस्तान पिपुल्स पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री अमीन फहीम की विधवा रिजवाना अमीन के नाम UAE में 4 संपत्तियां हैं.

इस सूची में पूर्व सिनेटर अनवर बेग की पत्नी आयशा अनवर बेग के नाम पर UAE में एक संपत्ति है, लेकिन इस संपत्ति का खुलासा उन्होंने अपने आयकर रिटर्न में किया है. अन्य अहम राजनीतिक चेहरों में पूर्व पीएम नवाज शरीफ की पार्टी पीएलएम (एन) के नेता इरफानुल्लाह खान मारवट का नाम भी शामिल है.

इस लिस्ट में पू्र्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के निजी सचिव तारिक अजीज की बेटी ताहिरा मंजूर के नाम से UAE में 6 संपत्तियां होने की बात कही है. पूर्व मंत्री हुमायूं अख्तर और हारून अख्तर के भाई अकबर खान के नाम से UAE में 6 संपत्तियां हैं. नोटिस के बाद भी अकबर की तरफ से कोई जवाब नहीं आया है.

अन्य गैर राजनीतिक लोगों में मशहूर गायक अदनान सामी की मां नोरीन सामी का नाम शामिल है, जिनके नाम 3 संपत्तियां हैं. सुप्रीम कोर्ट उन लोगों की जिम्मेदारी तय करना चाहती है जिन लोगों ने पाकिस्तान के बाहर संपत्ति बनाई लेकिन कभी यह नहीं बताया कि उन्होंने इसे हासिल कैसे किया.  

You Might Also Like