गोलियों की गूंज से टूटी बिहार की शांतिः नालंदा में प्रोफेसर की तो दरभंगा में कंपाउंडर की गोली मारकर हत्या

गोलियों की गूंज से टूटी बिहार की शांतिः नालंदा में प्रोफेसर की तो दरभंगा में कंपाउंडर की गोली मारकर हत्या

 बिहार के अलग-अलग शहरों में हत्या की ताबड़तोड़ वारदातों से सनसनी मच गई. बिहारशरीफ में एक प्रोफेसर की गोली मारकर हत्या कर दी गई वहीं दरभंगा जिले में कंपाउंडर को गोलियों से छलनी कर मार दिया गया. दरभंगा के सिंघवाड़ा थाना क्षेत्र के भरवाड़ा-कमतौल पथ स्थित नासिरगंज के होम्योपैथी क्लीनिक के कंपाउंडर की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी. इस घटना को अंजाम देकर बदमाश मौके से फरार हो गए.

घटना के बारे में बताया जा रहा है कि कंपाउंडर मोहम्मद रेयाज क्लिनिक बंद कर रहा था. इस दौरान अज्ञात अपराधियों ने उसके सीने और पेट में गोली मार दी जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई. घटना की जानकारी मिलते ही वहां बड़ी संख्या में ग्रामीण इकट्ठा हो गए और उन्होंने तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी. इसके बाद मौके पर पहुंच कर पुलिस ने घटनास्थल से खोखा, मैगजीन के साथ तीन जिंदा कारतूस बरामद किया है.

गांव में पसरा है मातम
डॉ. जाकिरुल्ला रहमानी की होम्योपैथी दवा की दुकान में मोहम्मद रेयाज अहमद दो हफ्ते से काम कर रहा था. शनिवार की शाम आठ बजे के बाद वह दुकान बंद कर घर जाने के लिए तैयार हो रहा था. इस दौरान अपराधियों ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी. इधर रेयाज की मौत की खबर मिलते ही परिवार वालों का रो-रो कर बुरा हाल है. वहीं पूरे गांव और परिजनों में मातम पसरा हुआ है.

मामले की जांच में जुटी पुलिस
मौके पर पहुंचकर पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया है. साथ ही शव को पोस्टमार्टम के लिए डीएमसीएच भेज दिया गया है. डीएसपी अनोज कुमार ने बताया कि मामला दर्ज कर अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए क्षेत्र की नाकेबंदी की गई है. उन्होंने बताया कि मृतक के पेट और छाती में तीन गोलियां दागी गई है. फिलहाल छापेमारी जारी है और इस घटना में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसकी जल्द गिरफ्तारी होगी.

नालंदा में प्रोफेसर की गोली मारकर हत्या
बिहार में अपराधी बेखौफ घूम रहे हैं और अपराध से जुड़ा एक और मामला सामने आया है. बिहारशरीफ के नालंदा में प्रोफेसर की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. हत्या उस समय की गई जब प्रोफेसर मॉर्निंग वॉक के लिए बाहर गए थे.

प्रोफ़ेसर अरविंद कुमार जैसे ही एलीट होटल के आगे मिल्की पर पहुंचे इसी बीच एक मोटरसाइकिल पर सवार दो अपराधियों ने उन पर धावा बोल दिया और दो गोलियां दाग दी. अपराधी हमला करने के बाद आसानी से भाग निकले.

गंभीर हालत में उन्हें इलाज के लिए बिहारशरीफ सदर अस्पताल लाया गया लेकिन रास्ते में ही उन्होंने दम तोड़ दिया. बताया जाता है कि वे प्रतिदिन की तरह रविवार को भी मॉर्निंग वॉक के लिए घर से निकले थे और भागन बीघा ओपी अंतर्गत मिल्कीपुर गांव पहुंचे थे. वहीं अपराधियों ने इस घटना को अंजाम दिया.

घटना की सूचना पाकर बड़ी संख्या में लोग अस्पताल पहुंचे और पीड़ित परिवार को सांत्वना दिया. मालूम हो कि मृतक एक व्यवसायिक घराने से भी ताल्लुक रखते थे और उनका पूरा परिवार बड़े व्यवसाय से जुड़ा हुआ है.

इस घटना के बाद व्यावसायिक वर्ग में भी खासा रोष व्याप्त है. मृतक बिहारशरीफ के पैरू महतो सोमारी कॉलेज में प्रोफेसर के पद पर कार्यरत थे. घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है.

You Might Also Like