तेजस्वी की न्याय यात्रा के पोस्टर में दिखा दुष्कर्म का आरोपी राजवल्लभ, सियासत तेज

तेजस्वी की न्याय यात्रा के पोस्टर में दिखा दुष्कर्म का आरोपी राजवल्लभ, सियासत तेज

 बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव इन दिनों अपने संविधान बचाओ न्याय यात्रा के को लेकर बिहार के विभिन्न जिलों में रैली कर रहे हैं। अपनी जनसभा में वे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साध रहे हैं तो वहीं राज्य में कानून-व्यवस्था पर सवाल भी उठा रहे हैं। आज तेजस्वी की संविधान बचाओ न्याय यात्रा की रैली नवादा में आयोजित है जिसके पहले पोस्टर को लेकर राजनीतिक बवाल मचा हुआ है।

नवादा की रैली से पहले तेजस्वी के स्वागत में पूरे शहर में उनके स्वागत के पोस्टर-बैनर लगाए गए हैं। नवादा आरजेडी द्वारा जारी किए गए इन बैनर और पोस्टर में स्थानीय आरजेडी विधायक और नाबालिग लड़की से बलात्कार का आरोपी राजबल्लभ यादव का चेहरा बड़ी-बड़ी तस्वीरों में दिख रहा है। इसके बाद विपक्षी पार्टियों ने तेजस्वी पर निशाना साधा है। 

राजवल्लभ का पोस्टर बैनर सामने आने के बाद जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने राबड़ी देवी को खुला पत्र लिखा है।नीरज कुमार ने अपने पत्र में लिखा है ‘आप एक महिला ही नहीं एक मां और पत्नी के साथ बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री भी हैं। आप जहां एक महिला का दर्द समझती होंगी वहीं, राजनीति की बारीकियों से भी परिचित होंगी।

आपके पति और राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद भ्रष्टाचार के आरोप में जेल में बंद हैं। ऐसी परिस्थिति में क्या दुष्कर्म के आरोपी को राजनीतिक सम्मान दिया जाना जरूरी है?’

नीरज कुमार ने राबड़ी देवी से पूछा है ‘आपके बेटे और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ऐसे तो भ्रष्टाचार के आरोपी हैं, लेकिन क्या अब सामाजिक न्याय की लड़ाई और धर्मनिरपेक्षता की लड़ाई के लिए भ्रष्टाचारी होने के अलावे दुराचारी होना भी आवश्यक है क्या?’

तेजस्वी यादव आजकल अपनी जिस कथित ‘संविधान बचाओ न्याय यात्रा’ पर हैं, देह व्यापार के आरोपी उनके पीए मणि यादव तो साथ हैं ही आपके दल के विधायक और एक नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी राजबल्लभ प्रसाद यादव के पोस्टर वहां लग गए हैं।’

बता दें कि राजबल्लभ यादव पर 14 वर्षीय नाबालिग लड़की का बलात्कार करने का आरोप है। मार्च 2016 में मामले का खुलासा होने के बाद राजवल्लभ को गिरफ्तार किया गया था। राजवल्लभ पर आरोप है कि जन्मदिन के बहाने लड़की को अपने नवादा स्थित घर पर बुलाकर उन्होंने उसके साथ दुराचार किया था।

इतना बड़ा आरोप लगने के बाद भी राजद ने राजबल्लभ को पार्टी से नहीं निकाला, जिसको लेकर जेडीयू और बीजेपी लगातार राजद पर हमलावर रहती हैं। 

You Might Also Like