दिल्ली-NCR के लिए खतरे की घंटी, तीन दिनों तक खतरनाक स्तर पर रहेगा प्रदूषण

दिल्ली-NCR के लिए खतरे की घंटी, तीन दिनों तक खतरनाक स्तर पर रहेगा प्रदूषण

 दिल्ली और केंद्र सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद दिल्ली-एनसीआर में दिवाली से पहले ही बढ़ते प्रदूषण के कारण हालात बेकाबू हो गए हैं। बुधवार को पीएम 10 का स्तर 498 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर और पीएम 2.5 का स्तर 250 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा। प्रदूषण अगले तीन दिनों तक खतरनाक स्तर पर ही रहेगा। जानकारी के मुताबिक, प्रदूषण में अब तेजी से इजाफा होगा। 

बता दें कि हिमालय क्षेत्र में 31 अक्टूबर को एक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है। इसकी वजह से दिल्ली की हवा में नमी काफी अधिक बढ़ेगी। इससे तापमान में भी गिरावट आएगी। हवाओं का रुख इस समय उत्तर पश्चिम है, जिससे पराली का धुआं दिल्ली पहुंच रहा है। हालांकि कुछ राहत की बात यह है कि ऊपरी हिस्से में हवा की गति अच्छी है, जिससे पराली का धुआं उतनी तेजी से दिल्ली नहीं पहुंच रहा है।

मौसम विभाग के अनुसार, सेटेलाइट इमेज में जो तस्वीरे सामने आ रही हैं उसमें पिछले 24 घटे के दौरान काफी अधिक पराली जलाई गई है। इसकी वजह से स्थिति काफी विकट हो सकती है। उधर स्काईमेट वेदर के अनुसार, दिवाली के बाद तक यानी 10 से 12 नवंबर ऐसे ही हालात बने रहने के आसार हैं। आतिशबाजी का धुआं इसमें और अधिक इजाफा करेगा।

इससे पहले मंगलवार को दिल्ली सहित एनसीआर के सभी प्रमुख शहरों का एयर इंडेक्स खतरनाक श्रेणी में पहुंच गया, जो एक-दो दिनों में और बढ़ेगा। इस बीच केंद्र सरकार की एजेंसी सफर इंडिया ने दिल्ली एनसीआर के निवासियों को फिलहाल सुबह-शाम की सैर सहित सभी बाहरी गतिविधियां रोक देने की सलाह दी है। मंगलवार को सुबह जब लोग घरों से बाहर निकले तो उन्हें घुटन का अहसास हुआ। स्मॉग काफी ज्यादा था।

इस सीजन में पहली बार प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया। सुबह आठ बजे एयर इंडेक्स 393 था, जो दोपहर दो बजे 400 तक पहुंच गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) की एयर बुलेटिन के अनुसार, शाम तक दिल्ली का एयर इंडेक्स 401 पहुंच गया जो न केवल इस सीजन का सबसे अधिक है बल्कि खतरनाक श्रेणी को भी दर्शाता है।

मंगलवार को दिल्ली में पीएम 10 का स्तर 465 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर और पीएम 2.5 का स्तर 261 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा। दिल्ली ही नहीं, एनसीआर में भी हवा अब सास लेने लायक नहीं रह गई है।

You Might Also Like