नावी टिकटों पर रस्साकशी के बीच केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘सुमित्रा महाजन नाराज नहीं’

नावी टिकटों पर रस्साकशी के बीच केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘सुमित्रा महाजन नाराज नहीं’

 मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों में इंदौर जिले की नौ सीटों के लिए उम्मीदवारों के चयन के लिये मची खींचतान के बीच केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर समेत भाजपा के दो वरिष्ठ नेताओं ने लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से यहां सोमवार को मुलाकात कर प्रत्याशी चयन पर उनसे विस्तृत चर्चा की.

महाजन से उनके मनीषपुरी स्थित घर में करीब डेढ़ घंटा चली मुलाकात के बाद तोमर ने संवाददाताओं से कहा, “ताई (महाजन का लोकप्रिय उपनाम) हमारी वरिष्ठ नेता हैं. चूंकि वह पिछले कुछ दिनों से विदेश में थी. इसलिये उनसे चुनावी टिकटों को लेकर चर्चा नहीं हो सकी थी. उनके विदेश से लौटने के बाद हमने उनसे इस सिलसिले में चर्चा की.”

 

इंदौर: मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों में इंदौर जिले की नौ सीटों के लिए उम्मीदवारों के चयन के लिये मची खींचतान के बीच केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर समेत भाजपा के दो वरिष्ठ नेताओं ने लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से यहां सोमवार को मुलाकात कर प्रत्याशी चयन पर उनसे विस्तृत चर्चा की.

महाजन से उनके मनीषपुरी स्थित घर में करीब डेढ़ घंटा चली मुलाकात के बाद तोमर ने संवाददाताओं से कहा, “ताई (महाजन का लोकप्रिय उपनाम) हमारी वरिष्ठ नेता हैं. चूंकि वह पिछले कुछ दिनों से विदेश में थी. इसलिये उनसे चुनावी टिकटों को लेकर चर्चा नहीं हो सकी थी. उनके विदेश से लौटने के बाद हमने उनसे इस सिलसिले में चर्चा की.”

इस मुलाकात से कुछ घंटों पहले, महाजन ने इंदौर में भाजपा के चुनावी टिकटों के बारे में मीडिया के सवालों का जवाब देने से इंकार कर दिया. उन्होंने यहां एक कार्यक्रम के दौरान संवाददाताओं से कहा, “मुझे चुनावी टिकटों के बारे में कोई जानकारी नहीं है. आप (मीडिया) इस बारे में मुझसे सवाल मत कीजिये.”

अटलजी की सरकार में मंत्री रहे नेता ने कहा, यदि टिकट नहीं मिला तो भी लड़ेंगे चुनाव

इंदौर, महाजन के अलावा भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का भी गृहनगर है. सूत्रों ने बताया कि दोनों वरिष्ठ नेता जिले की नौ सीटों पर अपने पुत्रों और समर्थकों को चुनावी टिकट दिलाना चाहते हैं. माना जा रहा है कि इस खींचतान के कारण भी इंदौर की सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा में विलंब हुआ है.

You Might Also Like