केदारनाथ की दिव्यता और भव्यता को आकार लेते देखेंगे मोदी

केदारनाथ की दिव्यता और भव्यता को आकार लेते देखेंगे मोदी

इसे बाबा केदार के प्रति अगाध आस्था कहें या फिर देवभूमि से खास लगाव, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को यहां की वादियां अक्सर खींच लाती हैं। प्रकाश पर्व पर नमो केदारनाथ धाम आ रहे हैं, जहां करीब पौने दो घंटे रुकेंगे। 

इस दौरान वह पूजा अर्चना के बाद उनके सपने के अनुरूप नए कलेवर में संवर रही केदारपुरी में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों को देखेंगे। इनमें केदारपुरी में मंदाकिनी व सरस्वती नदियों पर बने संगम घाट के साथ ही पूरे हो चुके बाढ़ सुरक्षा कार्य शामिल हैं। 

प्रधानमंत्री का आधिकारिक कार्यक्रम राज्य सरकार को मिल चुका है। प्रधानमंत्री बनने के बाद इस छोटे से हिमालयी राज्य में नमो का यह 10 वां दौरा है। यह संभावना भी जताई जा रही कि केदारनाथ के बाद प्रधानमंत्री चीन सीमा पर भारतीय सेना की किसी चौकी में कुछ वक्त सैनिकों के साथ बिता सकते हैं। 

राज्य सरकार को मिले प्रधानमंत्री के आधिकारिक कार्यक्रम के मुताबिक वह देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट से 10 बजे केदारनाथ धाम पहुंचेंगे। बाबा केदार के दर्शन के बाद वह करीब सवा घंटे तक केदारपुरी में चल रहे पुननिर्माण कार्यों का निरीक्षण करेंगे। बता दें कि केदारपुरी का पुनर्निर्माण नमो के ड्रीम प्रोजेक्ट में शुमार है। 

पिछले साल केदारनाथ दौरे के दरम्यान पांच कार्यों का शिलान्यास किया था। इसके तहत केदारपुरी में मंदाकिनी व सरस्वती नदियों के संगम पर घाट, बाढ़ सुरक्षा प्रबंधन और जल निकासी के मार्ग से संबंधित कार्य पूरे हो चुके हैं। 

माना जा रहा इन कार्यों का निरीक्षण करने के साथ ही जो कार्य चल रहे हैं, उनके संबंध में कुछ दिशा-निर्देश राज्य सरकार को दे सकते हैं। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी का उत्तराखंड हिमालय की कंदराओं से दशकों पुराना नाता रहा है। 

You Might Also Like