रायपुर और धर्मपुर के वोटर महापौर पद के लिए निर्णायक

रायपुर और धर्मपुर के वोटर महापौर पद के लिए निर्णायक

नगर निगम देहरादून के चुनाव में रायपुर और धर्मपुर विधानसभा के वोटर महापौर पद के लिए निर्णायक साबित होंगे। इन दोनों विधानसभाओं में अकेले तीन लाख वोटर और 46 वार्ड शामिल हैं। यही वजह है कि भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियों के प्रत्याशी इन विधानसभाओं में ज्यादा ध्यान दे रही हैं।

नामांकन पत्रों की जांच के बाद अब निकाय चुनाव की रणभेरी बज चुकी है। भाजपा, कांग्रेस समेत दूसरे दल और निर्दलीय प्रत्याशी चुनावी रण में उतरने के साथ ही जीत-हार की गणित में जुट गए हैं। इन सब के बीच महापौर पद पर जीत के लिए कांग्रेस भाजपा सहित अन्य दल ठोस रणनीति बना रहे हैं। 

खासकर यह चुनाव सरकार बनाम विपक्ष के बीच लड़ा जा रहा है। इसमें भाजपा प्रत्याशी सुनील उनियाल गामा मुख्यमंत्री के करीबी हैं। वहीं कांग्रेस प्रत्याशी दिनेश अग्रवाल को सर्वमान्य रूप से उतारा गया है। ऐसे में दोनों विधानसभाओं को लेकर जो कयास लगाए जा रहे हैं, उससे दोनों पार्टियां भरोसे में दिख रही हैं। 

रायपुर क्षेत्र के 24 में से 11 नए वार्ड इस बार शामिल हुए हैं। इसी तरह धर्मपुर के 22 वार्डों में आठ नए वार्ड नगर निगम में शामिल हुए हैं। रायपुर के साथ मुख्यमंत्री की विधानसभा डोईवाला के सात वार्ड भी लगे हुए हैं, जहां 57 हजार से ज्यादा मतदाता हैं। ऐसे में इस क्षेत्र को भाजपा विशेष बोनस के रूप में देख रही है।

वहीं, कांग्रेस ग्राम पंचायतों को जबरन निकाय में शामिल करने को मुद्दा बनाते हुए ग्रामीणों की सहानुभूति अपने पक्ष में देख रही है। अब देखना होगा कि इन विधानसभाओं के मतदाता क्या निर्णय देते हैं।

You Might Also Like