संपत्ति पर मिलने वाले लोन के बारे में जानें ये जरूरी बातें

 अगर आपको लोन की जरूरत है तो आप संपत्ति को गिरवी रख लोन ले सकते हैं। संपत्ति पर लिया गया लोन सिक्योर्ड लोन माना जाता है। इस लोन की ब्याज दर हर बैंक की अलग-अलग होती है। इस लोन का आप अपनी जरूरतों के मुताबिक, इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आप ऐसा लोन लेना चाहते हैं तो कई बातों का ध्यान रखना चाहिए-

संपत्ति पर लोन लेने के लिए आवेदन कर्ता की न्यूनतम उम्र 21 साल होना जरूरी है। वहीं 65 साल की उम्र तक यह लोन चुकाना होता है। यह लोन लेने के लिए नौकरी पेशा लोगों की मिनिमम इनकम 40 हजार और सेल्फ इंप्लॉयड लोगों की सालाना इनकम 3 लाख रुपये से ज्यादा होनी चाहिए। साथ ही यह लोन लेने के लिए आपका सिबिल स्कोर कम से कम 650 होना चाहिए। अगर आपका सिबिल स्कोर 650 से कम है तो आपको संपत्ति पर लोन नहीं मिलेगा। यह लोन लेने के लिए नौकरीपेशा लोगों के पास 3 साल का वर्क एक्सपीरिएंस होना चाहिए, वहीं सेल्फ इंप्लॉयड लोगों के पास कम से कम 5 साल पुराना बिजनेस होना चाहिए।

संपत्ति पर लोन लेने के फायदे

लंबी अवधि का लोन के कारण ईएमआई का ज्यादा बोझ नहीं पड़ता

– पर्सनल लोन के मुकाबले इसमें ब्याज दर काफी कम होती है

– चूंकि यह सिक्योर्ड लोन होता है इसलिए बैंक आसानी से यह लोन पास कर देते हैं

इन संपत्तियों पर मिल सकता है लोन

– कमर्शियल और रेजिडेंशियल संपत्ति

– इंडस्ट्रियल प्रोपर्टी

– जिस प्रोपर्टी पर लोन लिया जा रहा है उसका निर्माण तय कानून के मुताबिक हुआ हो

– जिस प्रोपर्टी पर लोन लिया जा रहा है उसपर किसी दूसरे व्यक्ति या बैंक का हक ना हो

लोन के लिए इन डॉक्युमेंट्स की होती है जरूरत

– केवाईसी डॉक्युमेंट्स, आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और पासपोर्ट आदि

– पिछले 6 महीनों की बैंक स्टेटमेंट

– प्रोपर्टी से जुड़े कागजात जैसे सेल डीड, मेंटेनेंस बिल आदि

– नौकरी करने वाले लोगों के लिए सैलरी स्लिप और फॉर्म 16

– बिजनेस प्रूफ जैसे कंपनी रजिस्ट्रेशन लाइसेंस आदि

इस हिसाब से देखा जाए तो संपत्ति पर लोन एक अच्छा विकल्प है। इसका एक बड़ा नुकसान यह है कि अगर आप लोन चुकाने में असफल हो जाते हैं तो आपको गिरवी रखी प्रोपर्टी से हाथ धोना पड़ सकता है। इसलिए सोच विचार कर ही यह लोन लेने का फैसला करें

Related Articles

Live TV
Close