कनाडा ने दुनिया से कहा, फिलहाल उसके यहां ना भेजें कोई भी डाक, जानिए क्या है वजह

कनाडा ने दुनिया से कहा, फिलहाल उसके यहां ना भेजें कोई भी डाक, जानिए क्या है वजह

 कनाडा की डाक सेवा ने शुक्रवार को बाकि दुनिया से अनुरोध किया कि वे लोग फिलहाल डाक के जरिए कोई भी सामान या चिट्ठी उसके यहां ना भेजें, क्योंकि हड़ताल पर चल रहे कनाडाई डाक कर्मचारियों ने उन्हें की गई अनुबंध की पेशकश ठुकरा दी है. 

कर्मचारियों की पिछले पांच सप्ताह से जारी हड़ताल के कारण ‘कनाडा पोस्ट’ के पास सामानों, पार्सल और चिट्ठियों का अंबार लगा हुआ है. यहां तक कि विभाग ने हड़ताल खत्म कराने के लिए हाल ही में आखिरी प्रयास के रूप में कर्मचारियों को लुभावना प्रस्ताव भी दिया था.

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की चेतावनी के बाद यह कदम उठाया गया है कि उनकी सरकार आने वाले अवकाश सीजन से पहले श्रम विवाद को सुलझाने के लिए कदम उठाने को तैयार है. ईबे समेत ऑनलाइन खुदरा विक्रेताओं का सरकार पर दबाव है कि वह 23 नवंबर को शुरू होने वाले ब्लैक फ्राइडे और साइबर मंडे की ‘‘सेल’’ से पहले हड़ताल खत्म कराए.

लेकिन ‘कनैडियन यूनियन ऑफ पोस्टल वर्कर्स’ की एक प्रवक्ता ने एएफपी को शनिवार को समाप्त हो जाने वाले प्रस्ताव के बारे में बताया कि यह “नाकाफी” है और यूनियन इसे अपने सदस्यों के सामने पेश नहीं करेगा. इस बीच, कनाडा पोस्ट के सामने 22 अक्टूबर को हड़ताल की शुरुआत के समय से ही डिलीवरी बैकलॉग की समस्या खड़ी हो गयी है, जिसके चलते उन्हें दुनिया से अपने यहां मेल नहीं भेजने की अपील करनी पड़ी.

एक ईमेल में कहा गया, ‘‘इसलिए, हम यूनाइटेड स्टेट्स पोस्टल सर्विस समेत अंतरराष्ट्रीय डाक सेवाओं से कहना चाहते हैं कि हम बाहर से आने वाली वस्तुओं को अगली नोटिस तक स्वीकार करने में असमर्थ हैं.’’ 

You Might Also Like