सीएम योगी आदित्यनाथ के गोरखपुर में खराब ट्रैफिक व्यवस्था पर तेवर तेज

सीएम योगी आदित्यनाथ के गोरखपुर में खराब ट्रैफिक व्यवस्था पर तेवर तेज

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कर्मस्थली गोरखपुर में ट्रैफिक व्यवस्था बदहाल होने के साथ अनियमितता व भ्रष्टाचार के मामले की गाज सीओ ट्रैफिक पर गिरी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद सीओ संतोष सिंह को निलंबित किया गया है। इनके मामले की जांच आइजी रेंज जय नारायण सिंह को सौंपी गई है। 

भ्रष्टाचार की शिकायत पर शासन ने कल देर रात सीओ यातायात संतोष सिंह को निलंबित कर दिया। मोहद्दीपुर निवासी बस मालिक की पत्नी ने मुख्यमंत्री से मिलकर शिकायत की थी। आइजी मामले की जांच कर रहे है। शुरुआती जांच में आरोप की पुष्टि होने पर यह कार्रवाई की गई है। मोहद्दीपुर निवासी बस मालिक विनय सिंह को दो दिन पहले पुलिस ने सरकारी कार्य में बाधा डालने और रंगदारी वसूलने के आरोप में जेल भेजा था। सीओ यातायात संतोष सिंह के निर्देश पर यह कड़ी कार्रवाई हुई थी। 

कल सुबह विनय की पत्नी सीमा सिंह ने मंदिर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर सीओ पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया। प्रार्थना पत्र देकर बताया कि सीओ यातायात संतोष देवरिया जिले के रहने वाले हैं। उनके रिश्तेदार कल्लू सिंह भी बस चलवाते हैं, जिनके कहने पर उन्होंने पति के खिलाफ अपने गनर और एक अन्य व्यक्ति से तहरीर लेकर झूठा मुकदमा दर्ज करा दिया। कैंट क्षेत्र पैडलेगंज में एक अवैध स्टैंड संचालन और वसूली के विवाद में भी संतोष सिंह का नाम आया है।

मुख्यमंत्री के निर्देश पर आइजी रेंज जय नारायण सिंह ने जांच शुरू की तो कल्लू सिंह के सीओ के रिश्तेदार होने के आरोप की पुष्टि हो गई। देर शाम उन्होंने रिपोर्ट शासन को भेज दी, जिसके आधार पर सीओ को निलंबित कर दिया गया। आइजी ने निलंबन की पुष्टि करते हुए बताया कि मामले की जांच चल रही है।

You Might Also Like