सिर्फ 22 फीसद क्षेत्र में लगे मेले में बढ़ रहा लोगों का क्रेज

सिर्फ 22 फीसद क्षेत्र में लगे मेले में बढ़ रहा लोगों का क्रेज

महज 22 फीसद क्षेत्र में लगा 38वां अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला आकार में भले ही छोटा हो, लेकिन दर्शकों का क्रेज तब भी उतना ही बड़ा है। यही वजह है कि सोमवार को सप्ताह के पहले कार्यदिवस पर भी मेले में रौनक देखने को मिली। आइटीपीओ की मानें तो सोमवार करीब 30 हजार दर्शकों ने मेले में शिरकत की। हालांकि, विदेशी मंडप थोड़ा खाली-खाली दिखे जबकि राज्यों के मंडप गुलजार दिखे। राज्य मंडपों में दर्शकों ने जमकर खरीदारी भी की, लेकिन पहले की तुलना में यह कम ही रही।

विदेश स्टॉलों पर घटी दर्शकों की संख्या

सोमवार को चीन, हागकाग, ईरान, टर्की, ट्यूनीशिया, वियतनाम और म्यामार के स्टॉल खाली-खाली दिखे, जबकि रविवार को इन स्टॉलों पर काफी भीड़ रही थी। टर्की की स्टॉल पर काम करने वाले रिंगडोम ने बताया कि जो खरीदारी होनी थी, वह हो चुकी है। अब ज्यादातर लोग विंडो शॉपिंग कर रहे हैं। वहीं, चीन के स्टॉल पर काम करने वाले लोगों ने बताया कि शुरुआत में मशीनरी और अन्य उत्पादों की जानकारी लेने काफी संख्या में लोग आए थे, लेकिन अब यहां खालीपन है।

राज्यों के मंडप रहे गुलजार

बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, केरल, तेलंगाना और राजस्थान के मंडपों में दर्शकों की संख्या में कोई खासी कमी नहीं आई। इस दौरान दर्शकों की संख्या कुछ कम अवश्य रही, लेकिन लोग यहां उत्पादों की जानकारी लेते और खरीदारी करते दिखे।

परिवार संग सेल्फी लेते लोग

मौज-मस्ती का पर्याय बन चुके व्यापार मेले में लोग खरीदारी और खानपान के साथ अपने मित्रों और परिजनों के साथ हंसी-ठिठोली भी खूब करते हैं। आजकल सेल्फी भी मौजमस्ती और हंसी-ठिठोली का हिस्सा बन चुकी है। मेले में लोगों ने फुर्सत के पलों में अपने परिवार और मित्रों के साथ सेल्फी भी खूब ली।

छात्रों ने भी किया मेले का दीदार

करनाल के एक निजी स्कूल का छात्र दल भी सोमवार को व्यापार मेले का लुत्फ उठाने प्रगति मैदान पहुंचा। इस दल में करीब 60 छात्र थे, जिनमें छात्र और छात्राएं दोनों शामिल थे। इन बच्चों ने विशेषरूप से राज्य मंडपों में लगी प्रदर्शनियों को खूब सराहा और विदेशी मंडपों के आइटम देखे। 11वीं कक्षा की छात्रा पिंकी ने बताया कि शहर और गांव के बाजारों में एक साथ एक ही स्थान पर इतने आइटम नहीं मिलते। लेकिन, व्यापार मेले में उपलब्ध उत्पादों की बात ही कुछ और है। 12वीं के छात्र रोहित ने बताया कि विदेशी मंडपों की ज्वैलरी ने मनमोह लिया।

15 मिनट में आपकी तस्वीर तैयार

सोमवार को व्यापार मेले में दर्शकों के आकर्षण का केंद्र हाथ से तैयार की गई तस्वीर रही। संदीप नामक चित्रकार लोगों को सामने बैठाकर मात्र 15 मिनट में उनकी हूबहू तस्वीर तैयार कर रहे थे। वे गत 15 साल से इस कला का प्रदर्शन कर रहे हैं। व्यापार मेले में वे दो सौ रुपये में लोगों को सामने बिठाकर उनकी तस्वीर बना रहे थे। वे दिन में 30 से 40 तस्वीर तक तैयार कर देते हैं।

मल्टी कुजीन स्टीम कुकर

हॉल नं. 10 में भाप से खाना बनाने वाला मल्टी कुजीन स्टीम कुकर भी दर्शकों को आकर्षित कर रहा है। बिजली से चलने वाले इस कुकर में एक साथ तीन तीन व्यंजन बनाए जा सकते हैं। महज 20-25 मिनट तैयार होने वाली डिशेज को स्वास्थ्य के लिए भी अधिक बेहतर बताया जा रहा है। इसकी कीमत साढ़े तीन हजार रुपये के करीब है।

इस स्टॉल पर आने वाले हर दर्शक का तिलक लगाकर होता है स्वागत

इसी हॉल में धूप अगरबत्ती की एक स्टाल ऐसी भी है जहां आने वाले हर दर्शक का तिलक लगाकर स्वागत किया जा रहा है। आप कुछ खरीदें या नहीं, लेकिन सुंदरकांड की पुस्तिका भी फ्री ले जा सकते हैं।

You Might Also Like