सीएम पर मिर्च झोंकने वाले अनिल को है पांच एमएनसी में काम करने का अनुभव

सीएम पर मिर्च झोंकने वाले अनिल को है पांच एमएनसी में काम करने का अनुभव

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आंख में मिर्च झोंकने वाला आरोपित अनिल शर्मा मूल रूप से ग्रेटर नोएडा के जहांगीरपुर कस्बे का रहने वाला है। वह पांच बहुराष्ट्रीय कंपनियों में नौकरी कर चुका है। पिछले पांच सालों से उसका मानसिक उपचार चल रहा था। कस्बे के लोगों ने बताया कि उसकी आर्थिक स्थिति बेहद कमजोर हो चुकी है। पांच बहुराष्ट्रीय कंपनियों में उसने करीब 12 साल नौकरी की है और पांच साल पहले उसका मानसिक स्तर कमजोर हो गया था। इसके बाद से उसको नशे की आदत लग गई। नशे की आदत लगने पर परिजन ने उससे दूरी बना ली थी।

पत्‍नी छोड़ कर जा चुकी है

लोगों ने यह भी बताया कि उसकी पत्नी डेढ़ वर्ष पूर्व उसको छोड़ कर चली गई थी और उसकी एक बेटी है, जो कि अपने चाचा के पास रहती है। आरोपित अनिल शर्मा अंग्रेजी से पोस्ट ग्रेजुएट और तीन वर्ष का निफ्ट डिप्लोमा किया है। पढ़ाई पूरी करने के बाद उसने लंबे समय अलग-अलग कंपनियों में नौकरी की थी। उसका उपचार पिछले पांच सालों से लगातार चल रहा है।

लोगों ने बताया कि नौ महीने पहले उसकी हालत ज्यादा बिगड़ गई थी, तब उसे दिल्ली के एक मेंटल अस्पताल में भी भर्ती कराया गया था। वहां एक महीने तक उसका उपचार चला था। परिजन के दूरी बनाने के बाद अनिल ने जहांगीरपुर आना-जाना बंद कर दिया था। वह अक्सर दिल्ली ही रहता था।

मोबाइल फोन किया जब्त

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर मिर्च पाउडर फेंकने वाले आरोपित अनिल कुमार शर्मा का पुलिस ने मोबाइल फोन जब्त कर कॉल डिटेल निकाल जांच कर रही है। पुलिस यह पता लगा रही है कि अंतिम कॉल उसने किसको की थी। मंगलवार को सुबह से दोपहर तक उसने किन-किन लोगों से बात की। अनिल के पास से पर्स में कुछ पैसे मिले हैं और शिकायत प्रकोष्ठ के नाम से एक पर्ची मिली है। पुलिस ने इसे भी जब्त कर लिया है।

सीसीटीवी फुटेज पुलिस के कब्‍जे में

घटना के तुरंत बाद पुलिस ने सचिवालय से सीसीटीवी के फुटेज भी अपने कब्जे में ले लिया। जिसमें आरोपित के सचिवालय में आने और वारदात को अंजाम देने वक्त की कई तस्वीरें कैद हैं। पुलिस ने इसे अहम सुबूत के तौर पर रख लिया है। एडिशनल डीसीपी अमित कुमार शर्मा का कहना है कि इस मामले में सचिवालय के रिशेप्सन स्टाफ से लेकर शिकायत प्रकोष्ठ के कर्मचारी अभिषेक व घटना के समय मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात दिल्ली पुलिस के कर्मियों से भी पूछताछ की जाएगी।

कई लोगों से मंगलवार दोपहर व शाम को पूछताछ की गई है उनसे दोबारा भी विस्तृत पूछताछ की जाएगी। पुलिस का कहना है कि अनिल कुमार शर्मा सचिवालय में तैनात अभिषेक से बात करने के बाद सचिवालय आया था। अभिषेक स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत बताया जा रहा है। उन्हीं के निर्देश पर रिसेप्शन स्टाफ ने अनिल का मुख्यमंत्री से मिलने के लिए पास बनाकर उसे तीसरी मंजिल पर अभिषेक के कमरे में भेज दिया था। अभिषेक रूम नंबर 709 में बैठते हैं।

सुबह आठ बजे खाना लेकर निकला था

राजौरी गार्डन इलाके में किरण खुल्लर के आश्रम से अनिल कुमार शर्मा सुबह आठ बजे खाना लेकर निकला था। उसने दिल्ली सचिवालय जाने और मुख्यमंत्री से मिलकर अपनी समस्या बताने की बात आसपास के लोगों से कही थी। लोगों को लगा था कि वह झूठ बोल रहा है पर जब टेलीविजन पर खबर चली तो पता चला कि उसने मुख्यमंत्री पर मिर्च से हमला किया।

स्थानीय लोगों ने बताया कि किरण खुल्लर के आश्रम में अनिल पहली बार बुआ के साथ आया था। बुआ ने कहा था, इसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है और यह एक जगह पर ज्यादा दिनों तक नौकरी भी नहीं कर पाता है। ऐसे में इसे ठीक करने के लिए यहां पर लाई हूं। इसके बाद अनिल अकेले आश्रम आने लगा और कई-कई दिनों तक यहां पर रहने लगा। इस बार भी वह दो दिनों पहले यहां आया था। लोगों ने बताया कि वह बहुत बोलता है।

You Might Also Like