अर्जुन तेंदुलकर को लग गई है ‘पंजा’ लगाने की आदत

अर्जुन तेंदुलकर को लग गई है ‘पंजा’ लगाने की आदत

क्रिकेट लीजेंड सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर की दुनिया में हर दिन अपने पिता का नाम रोशन कर रहे हैं. अपनी गेंदबाजी से लगातार बल्लेबाजों के पसीने छुड़वाने वाले अर्जुन ने एक बार फिर अपनी घातक गेंदबाजी से दिल्ली के बल्लेबाजों की कमर तोड़ कर रख दी है. हाल ही में दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर मुंबई की तरफ से अंडर 19 कूच बिहार ट्रॉफी में दिल्ली के खिलाफ अर्जुन तेंदुलकर ने 5 विकेट लेकर एक बार फइर से सनसनी मचा दी है.

क्रिकेट के ‘भगवान’ सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन की गेंदबाजी में हर दिन निखार देखा जा रहा है. इस टूर्नामेंट में अर्जुन तेंदुलकर ने 98 रन देकर 5 विकेट हासिल किए. यह पहला मौका नहीं है, जब किसी टूर्नामेंट में अर्जुन ने ‘पंजा’ जड़ा है. इससे पहले भी वह इस कमाल को कई बार दोहरा चुके हैं. बता दें कि अर्जुन पिछले साल इसी टूर्नामेंट में 5 विकेट चटकाकर ही सुर्खियों में भी आए थे. 

अर्जुन तेंदुलकर ने दिल्ली के कप्तान आयुष बदौनी, वैभव कांडपाल, विकेटकीपर गुलजार सिंह संधू, ऋतिक शौकीन और प्रशांत कुमार भाटी के विकेट लिए. अर्जुन की शानदार गेंदबाजी की बदौलत दिल्ली की पहली पारी 396 रनों पर सिमट गई. बाएं हाथ के पेसर अर्जुन ने दूसरी पारी में प्रियांश आर्य को आउट किया. अर्जुन की शानदारी गेंदबाजी की उनके फैन्स ने जमकर प्रशंसा की. अर्जुन ने इससे पहले साल के शुरू में श्रीलंका के खिलाफ अंडर-19 में चार दिवसीय मैचों में डेब्यू किया था.

केसी महेंद्र शील्ड अंडर 19 टूर्नामेंट में 6 विकेट

हाल ही में बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्जुन तेंदुलकर केसी महेंद्र शील्ड अंडर 19 टूर्नामेंट में विजय मर्चेंट इलेवन की तरफ से खेले थे. अर्जुन ने विजय मांजरेकर इलेवन के खिलाफ 70 रन देकर छह विकेट लिए थे. अपने इन छह विकेटों की बदौलत एक बार फिर से सोशल मीडिया में छा गए थे. अनकी शानदार गेंदबाजी की बदौलत विजय मंजरेकर इलेवन दूसरी पारी में केवल 216 रन बना पाई. अर्जुन की टीम ने चौथी पारी में जरूरी रन बनाकर मैच जीत लिया था.

वीनू मांकड ट्रॉफी में झटके थे 5 विकेट

अर्जुन तेंदुलकर एक ऑलराउंडर खिलाड़ी हैं. वह मुंबई की अंडर-14 और अंडर-16 का हिस्सा रह चुके हैं. इसी साल युवा अर्जुन तेंदुलकर ने वीनू मांकड ट्रॉफी में भी उम्दा गेंदबाजी की थी और मुंबई को गुजरात पर जीत दिलाई थी. मुंबई की तरफ से खेलते हुए अर्जुन ने 8.2 ओवर में 30 रन देकर 5 विकेट झटके थे. अर्जुन तेंदुलकर ने दत्तेश शाह (0), प्रियेश (1), एलएम कोचर (8) जयमीत पटेल (26) और ध्रुवांग पटेल (6) के विकेट लिए थे. इस टूर्नामेंट में अर्जुन तेंदुलकर ने गेंदबाजी से काफी प्रभावित किया था. 

स्प्रिट ऑफ ग्लोबल चैलैंज में किया था ऑलराउंड परफॉर्मेंस

इसी साल जनवरी में अर्जुन तेंदुलकर ने ऑस्ट्रलिया में स्प्रिट ऑफ ग्लोबल चैलैंज में भाग लेते हुए सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर गेंद और बल्ले दोनों से शानदार प्रदर्शन किया था. टी-20 मैच में भारत के क्रिकेटर्स क्लब की ओर से बतौर ओपनर खेलते हुए अर्जुन ने अपने धुंआधार प्रदर्शन से  केवल 27 गेंदों पर 48 रन बना डाले. इतना ही नहीं अर्जुन ने गेंद से कमाल दिखाया जिसमें उसने चार विकेट झटक डाले. 

अंडर कूच बिहार ट्रॉफी में 5 विकेट लेकर आए थे सुर्खियों में

बता दें कि पिछले साल अंडर 19 कूच बिहार ट्रॉफी इंटर स्टेट क्रिकेट टूर्नामेंट में शानदार गेंदबाजी करते हुए मुंबई टीम के लिए रेलवे के खिलाफ खेलते हुए पांच विकेट झटके थे. अर्जुन ने 11 ओवर में 44 रन देकर पांच विकेट लिए जिसकी बदौलत मुंबई ने रेलवे को एक पारी ओर 103 रनों से हराने में कामयाबी हासिल हुई. असम के खिलाफ भी अर्जुन अपनी टीम को जीत दिला चुके हैं, जिसके चलते वह असम को एक पारी और 154 रनों से पराजित कर पाए. अर्जुन ने दूसरी पारी में 15 ओवरों में 44 रन देकर 4 विकेट लिए थे. उससे एक महीने पहले अर्जुन ने मध्य प्रदेश के खिलाफ इसी टूर्नामेंट में 5 विकेट लिए थे.

अंडर-14 खेलते हुए जड़ी थी पहली सेंचुरी

अर्जुन तेंदुलकर ने 22 जनवरी 2010 को अंडर 13 टूर्नामेंट में पहली बार अपना हाथ आजमाया था. इसके बाद वो वेस्ट जोन के अंडर 14 टूर्नामेंट के लिए चुने गए थे. अंडर 14 के ही टूर्नामेंट में अर्जुन ने खार जिमखाना के लिए खेलते हुए अपनी पहली सेंचुरी जड़ी थी. इसके अलावा 2011 में अर्जुन ने सिर्फ 22 रन देकर 8 विकेट लेकर सुर्खियां बटोरी थी. 16 साल की उम्र में अर्जुन ने वेस्ट जोन की टीम में भी जगह बनाई.

टीम इंडिया को भी करवा चुके हैं नेट प्रैक्टिस

अर्जुन तेंदुलकर को भविष्य के स्टार के रूप में देखा जा रहा है. उन्हें टीम इंडिया को भी कई मौकों पर गेंदबाजी करते देखा जाता है. इंग्लैंड के खिलाफ हालिया सीरीज में भी वह विराट एंड कंपनी को गेंदबाजी करते देखे गए थे. इससे पहले अक्टूबर 2017 में न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच से पहले मुंबई के वानखेड़े मैदान पर अर्जुन ने टीम इंडिया को अभ्यास कराया था. पिछले साल आईसीसी महिला वर्ल्ड कप के दौरान भी अर्जुन भारतीय महिला क्रिकेट टीम को नेट प्रैक्टिस करवाते हुए नजर आए थे.

जॉनी बेयरस्टो को कर चुके हैं चोटिल 

अर्जुन तेंदुलकर को कई अंतरराष्ट्रीय स्तर के बल्लेबाजों को गेंदबाजी का अनुभव है. इंग्लैंड में बल्लेबाजों का अभ्यास कराते समय अर्जुन के एक यॉर्कर ने जॉनी बेयरस्टो का चोटिल कर दिया था. अर्जुन अक्सर अंतरराष्ट्रीय टीमों को अभ्यास करते देखे गए हैं.

अर्जुन ने वसीम अकरम से भी लिए हैं टिप्स 

पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर वसीम अकरम ने सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर को गेंदबाजी के टिप्स दिए हैं. वसीम अकरम ने अपने इंटरव्यू में अर्जुन को जुनूनी बताया था. अकरम ने अर्जुन को फिटनेस और कलाई की स्थिति को लेकर कुछ टिप्स दी थीं. इसके साथ ही यह भी बताया था कि दाएं हाथ के बल्लेबाज के लिए गेंद को अंदर कैसे लाया जाता है. वसीम अकरम और अर्जुन तेंदुलकर की मुलाकात 2015 में मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइटराइडर्स के बीच हुए मैच से पहले हुई थी.

पिता सचिन का सपना कर रहे हैं पूरा

क्रिकेट करियर की शुरुआत में सचिन तेंदुलकर बतौर तेज गेंदबाज ही अपना करियर बनाना चाहते थे और इसके लिए वे डेनिस लिली के फाउंडेशन कार्यक्रम में भाग लेने भी गए थे. लिली ने उन्हें सलाह दी थी कि उनकी (सचिन की) हाईट कम है और उन्हें बल्लेबाजी पर ध्यान देना चाहिए. इस सलाह ने सचिन की जिंदगी बदल दी और एक महान बल्लेबाज बनने की नींव डाल दी. लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि अर्जुन अपने पिता का वह अधूरा सपना पूरा कर लेंगे. अर्जुन तेंदुलकर का एक पेसर के रूप में उभरना लगातार जारी है.

You Might Also Like