CM योगी का दावा, इंसेफेलाइटिस से होने वाली मौतों में हुई भारी गिरावट

CM योगी का दावा, इंसेफेलाइटिस से होने वाली मौतों में हुई भारी गिरावट

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इंसेफेलाइटिस रोग से होने वाली मौतों में भारी गिरावट का दावा करते हुए इसके आंकड़े पेश किए. योगी ने मीजिल्स रुबेला टीकाकरण अभियान की शुरूआत करने के बाद कहा कि अगर सभी विभाग मिलकर काम करें तो इंसेफेलाइटिस को भी हराया जा सकता है.

उन्होंने पूर्वांचल के इलाकों में हर साल सैकड़ों बच्चों की जान लेने वाले रोग इंसेफेलाइटिस के प्रभावी रोकथाम का दावा करते हुए कहा कि मिलजुलकर काम करने का परिणाम हमें इस वर्ष देखने को मिला. इस साल अगस्त महीने में विगत 40 वर्षों से गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 500 से 600 बच्चे भर्ती होते थे. इस वर्ष केवल 86 बच्चे ही भर्ती हुए

उन्होंने कहा ‘‘जिस बीआरडी मेडिकल कॉलेज में अगस्त महीने में सवा सौ से डेढ़ सौ बच्चों की मौत होती थी, इस वर्ष मात्र छह बच्चों की मौत हुई. यानी अगर मौत के आंकड़े 150 से घटकर छह पर आ सकते हैं और इंसेफेलाइटिस से पीड़ित बच्चों की संख्या 600 से घटकर 86 हो सकती है तो मेरा यह मानना है कि अगर सभी विभाग एक बार फिर टीम वर्क के साथ आगे बढ़ें तो इंसेफेलाइटिस का उन्मूलन सम्भव है.‘‘ 

मालूम हो कि गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में पिछले साल अगस्त में संदिग्ध रूप से ऑक्सीजन की आपूर्ति बाधित होने से 24 घंटों के अंदर 30 से ज्यादा बच्चों की मौत के कुछ समय बाद मेडिकल कॉलेज में भर्ती होने वाले इंसेफेलाइटिस के मरीजों और मृतकों का आंकड़ा सार्वजनिक किया जाना बंद कर दिया गया था. ऐसे में मुख्यमंत्री का यह बयान महत्वपूर्ण है.

गोरखपुर से सपा सांसद प्रवीण निषाद की अगुवाई में गत 22 नवम्बर को बीआरडी मेडिकल कॉलेज से कमिश्नर कार्यालय तक मार्च निकाला गया था. उन्होंने मांग की थी कि इंसेफेलाइटिस के रोजाना दिये जाने वाले आंकड़े उपलब्ध कराने का सिलसिला फिर से शुरू किया जाए.

मुख्यमंत्री योगी ने अपने सम्बोधन में कहा कि मीजिल्स रुबेला से मुक्त करने का यह अभियान पांच सप्ताह तक चलेगा. इस मुहिम में शिक्षा विभाग एवं स्वास्थ्य कल्याण विभाग की अहम भूमिका रहेगी. साथ ही इस कार्यक्रम की सफलता के लिये सभी सम्बन्धित विभागों को भी सहभागी बनना होगा.

उन्होंने कहा कि मीजिल्स रुबेला टीकाकरण अभियान दुनिया का सबसे बड़ा अभियान है. करीब 41 करोड़ बच्चों को इस मुहिम का हिस्सा बनाने का लक्ष्य है. इस अभियान का प्रतिभागी होना हमारे लिये महत्वपूर्ण उपलब्धि होगी.

You Might Also Like