टीम इंडिया सबसे युवा टी-20 कप्तान इन रिकॉर्ड्स में रहा है

टीम इंडिया सबसे युवा टी-20 कप्तान इन रिकॉर्ड्स में रहा है

टीम इंडिया के इस मध्यक्रम के बल्लेबाज के सबसे धमाकेदार बल्लेबाजों में से एक सुरैश रैना को टीम इंडिया में अपनी जगह बनाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी थी.  27 नवंबर 1986 को जन्में सुरेश रैना आज अपना 32वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं. बाएं हाथ के इस खिलाड़ी ने देश के लिए 226 वनडे, 78 टी-20 और 18 टेस्ट मैच खेले हैं. तीनों फॉर्मेट में सुरेश रैना ने 7988 रन बनाए हैं. इनमें 7  शतक और 48 अर्द्धशतक शामिल हैं.

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में भी वह सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ियों में हैं. चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से खेलते हुए उनकी टीम ने तीन बार खिताब जीता है. सुरेश रैना ने टीम इंडिया के लिए खेलते हुए टेस्ट में 768, वन-डे में 5615 और टी-20 में 1604 रन बनाए हैं. आइए उनके 32वें जन्मदिन पर जानते हैं उनसे जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें:

– सुरेश रैना के पिता त्रिलोक चंद जम्मू कश्मीर के रैनावाड़ी के रहने वाले हैं. उनका मां धर्मशाला, हिमाचल प्रदेश की हैं. बाद में उनका परिवार गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश शिफ्ट हो गया. रैना पांच बच्चों में से एक हैं. तीन भाई उनसे बड़े हैं और एक छोटी बहन है. 

– किशोरावस्था में रैना को राज्य के स्पोर्ट्स होस्टल में रहने के लिए गाजियाबाद छोड़कर लखनऊ आना पड़ा.1999 में रैना को यहां दूसरे बच्चों की तरह होस्टल के काम भी करने पड़े. वह 2006 तक होस्टल में रहे. टीम इंडिया में आने के बाद उन्होंने होस्टल छोड़ दिया. 

– सुरैश रैना की उम्र उस समय 16 साल की थी, जब उन्हें अंडर 19 में इंग्लैंड दौरे के लिए चुना गया. पहले ही मैच में रैना ने अनऑफिशियल मैच में 72 रन की पारी खेली. इस टीम के कप्तान मानविंद्र बिसला थे. अंबाती रायडू और इरफान पठान भी उनके साथी थे. टिम ब्रेसनन इंग्लैंड टीम के सदस्य थे.

– साल 2003 में सुरेश रैना ने उत्तर प्रदेश की रणजी टीम में शामिल हुए और असम के खिलाफ डेब्यू किया था, लेकिन वह उस सीजन में दूसरा मैच नहीं खेल पाए. इसी साल वह अंडर-19 एशियन वन-डे चैंपियनशिप के पाकिस्तान का दौरा किए थे.

– घरेलू क्रिकेट में सुरेश रैना की सफलता को देखते हुए 18 साल की उम्र में उन्हें टीम इंडिया में शामिल कर लिया गया था. 30 जुलाई 2005 में बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने दांबुला में श्रीलंका के खिलाफ डेब्यू किया. लेकिन वह पहली ही गेंद पर आउट हो गए थे. उन्हें मुथैया मुरलीधरण ने आउट किया. डेब्यू मैच में शून्य पर आउट होकर वह सचिन तेंदुलकर, शिखर धवन के ग्रुप में शामिल हो गए.

– सुरेश रैना को आईपीएल का सुपर स्टार माना जाता है. पिछले तीन सीजन से वह लगातार चेन्नई सुपर किंग्स के साथ है. वह दो बार गुजरात लायन्स के साथ भी रहे. वह चेन्नई सुपर किंग्स के प्रमुख रन बनाने वालों में है. उन्होंने 35.10 की औसत से 4985 रन बनाए हैं. इनमें दो शतक और 34 अर्द्धशतक शामिल हैं. इसके अलावा रैना ने 96 कैच और 36 विकेट भी लिए हैं. आईपीएल में उनके द्वारा बनाए गए 4985 किसी भी बल्लेबाज द्वारा बनाए गए रनों से अधिक है.

– आईपीएल में सर्वाधिक रन बनाने का श्रेय सुरेश रैना को जाता है. वह 176 मैचों की 172 पारियों में कुल 4985 रन बनाए हैं. दूसरे नंबर पर विराट कोहली (4948), जबकि तीसरे नंबर पर रोहित शर्मा (4493) रन के साथ मौजूद हैं. 

– सुरेश रैना की चेन्नई सुपर किंग्स के साथ सफलता ने उनके लिए टी-20 के द्वार खोले. वह टी-20 में 280 पारियों में 7929 रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं. सुरेश रैना विराट कोहली से भी आगे हैं. विराट ने 236 पारियों में 7809 रन बनाए हैं. कोहली और रैना दोनों ने 4-4 टी-20 शतक लगाए हैं. 

टीम इंडिया की टी-20 में कप्तानी करने वाले रैना सबसे युवा खिलाड़ी है. उन्होंने पहली बार टीम इंडिया की कप्तानी की तो उनकी उम्र महज 23 साल थी. 

– जब सुरेश रैना ने 2010 में श्रीलंका के खिलाफ डेब्यू मैच में शतक लगाया तो वह पहले ऐसे भारतीय खिलाड़ी बने जिसने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में शतक लगाया हो. रैना ने एशिया कप हॉन्गकॉन्ग के खिलाफ वनडे में शतक लगाया, दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वर्ल्ड टी-20 में शतक लगाया. 

– सुरेश रैना ने वनडे में 55 बार रनों का पीछा करते हुए टीम इंडिया को जीत दिलाई है. 32 वर्षीय इस खिलाड़ी का औसत 66.60 का और स्ट्राइक रेट 101.74 है. उनका औसत केवल विराट कोहली (98.93), महेंद्र सिंह (97.81) और अंबाती रायडू (116.60) से कम है और स्ट्राइक रेट केवल वीरेंद्र सहवाग से कम है. 

– सुरेश रैना ने कई इंटरव्यूज में कहा है कि उन्हें कुकिंग पसंद है. उन्होंने कहा, टीम इंडिया के कप्तान के रूप में पहले दौरे पर उन्होंने पूरी टीम के खाना बनाया था. इस टीम में अशोक डिंडा भी शामिल थे.

बाएं हाथ के इस बल्लेबाजी ने श्रीलंका के खिलाफ साल 2010 में डेब्यू किया था. हालांकि, कोलंबो में दोनों टीमों के बीच खेला गया यह मुकाबला ड्रॉ हुआ था. इस मैच में रैना ने 120 रन की शतकीय पारी खेली थी. इस दौरान उन्होंने 12 चौके और 2 छक्के लगाए थे. वह ऐसा करने वाले भारत के 12वें खिलाड़ी बने थे. 

– सुरेश रैना टी-20 और वनडे विश्व कप में शतक बनाने वाले इकलौते भारतीय खिलाड़ी हैं, वह टी 20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतक लगाने वाले भारत के पहले और दुनिया के तीसरे बल्लेबाज हैं. टी-20 में शतक जड़ने वालों में पहले नंबर पर वेस्टइंडीज के क्रिस गेल (117), जबकि दूसरे नंबर पर न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैकुलम (116*) काबिज हैं. रैना ने 2010 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 60 गेंदों में 9 चौकों और 5 छक्कों की मदद से 101 रन की तूफानी पारी खेली थी.

You Might Also Like