कांग्रेस को ‘आशीर्वाद’ देने पर बुरे फंसे कंप्यूटर बाबा

कांग्रेस को ‘आशीर्वाद’ देने पर बुरे फंसे कंप्यूटर बाबा

 मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों में कांग्रेस उम्मीदवारों का समर्थन कर रहे कंप्यूटर बाबा को लेकर चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज करवाई गई है. मांग है कि बाबा की जहां-जहां सभा हुई उसका खर्च उस विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस उम्मीदवार के खर्च में जोड़ा जाए.

दिल्ली के रहने वाले आदर्श श्रीवास्तव ने अपने आवेदन में कहा है कि कंप्यूटर बाबा ने मध्यप्रदेश में कांग्रेस उम्मीदवार के समर्थन में सभा आयोजित की. लिहाजा बाबा की जहां सभा हुई उसका खर्च संबंधित विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस उम्मीदवार के खर्च में जोड़ दिया जाए.

गौरतलब है कि इसी साल अप्रैल माह में प्रदेश सरकार ने नामदेव त्यागी उर्फ कंप्यूटर बाबा सहित पांच संतों को मंत्री का दर्जा प्रदान किया था. शिवराज सरकार से नाराजगी के चलते कुछ माह बाद कंप्यूटर बाबा ने मंत्री दर्जा से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद से ही बाबा ने राज्य के सत्तारूढ़ दल बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है

कांग्रेस को समर्थन

बीते शुक्रवार को ही संतों ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ‘मां नर्मदा के साथ अन्याय करने वाला कलयुगी पुत्र’ और ‘साधु संतों के साथ धोखा करने वाला व्यक्ति’ करार देते हुए उन्हें पद से हटाने के लिए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को समर्थन देने का संकल्प लिया गया. संत सम्मेलन का आयोजन पटदर्शन संत समिति के अध्यक्ष संत कंप्यूटर बाबा की अगुवाई में जबलपुर के ग्वारीघाट क्षेत्र में किया गया था. नर्मदे संसद में शिरकत करने अन्य प्रदेशों के भी संत पधारे थे.

कांग्रेस प्रत्याशी को दिया आशीर्वाद

इसके बाद शनिवार को भोपाल जुटे करीब दो हजार से ज्यादा संतों की अगुवाई करते हुए कंप्यूटर बाबा ने कहा कि हम शिवराज को 15 साल दे चुके हैं. चूंकि यह सरकार धर्म विरोधी कार्य कर रही हैं इसलिए अब हम कांग्रेस पर विश्वास जताते हुए उन्हें समर्थन दे रहे हैं. यदि कांग्रेस ने भी धर्म के रास्ते पर चलकर सरकार नहीं चलाई तो उसे भी कान पकड़कर बाहर कर देंगे. मध्यप्रदेश के एकमात्र मुस्लिम विधायक और कांग्रेस के मौजूदा उम्मीदवार आरिफ अकील भी अपनी उत्तर भोपाल विधानसभा में धरने पर बैठे साधु-संतों से जीत का आशीर्वाद लेने गए. इस दौरान कंप्यूटर बाबा ने आरिफ के सिर पर हाथ रखकर आशीर्वाद दिया.

You Might Also Like