बिहार में एक और RLSP नेता की गोली मारकर हत्या,

बिहार में एक और RLSP नेता की गोली मारकर हत्या,

बिहार में बेखौफ अपराधियों ने मोतिहारी में उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा के नेता सह प्रखंड अध्यक्ष प्रेमचंद्र कुशवाहा की गोली मारकर हत्या कर दी है। प्रेमचंद्र कुशवाहा हॉस्पिटल संचालक भी थे। रालोसपा नेता की हत्या के बाद स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए हैं और जमकर हंगामा कर रहे हैं। 

स्थानीय लोग लाठी-डंडों से लैस होकर सड़क पर आगजनी कर रहे हैं। मौके पर पहुंची पुलिस को भी लोगों ने खदेड़ दिया है। लोग अपराधियों की अविलंब गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। 

इसके साथ ही रालोसपा सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा ने ट्वीट कर बिहार की नीतीश सरकार पर तंज कसा है और साथ ही घटना को दुखद बताते हुए अपनी संवेदना व्यक्त की है।

कुशवाहा ने लिखा-अत्यंत ही दुःखद….!

माननीय मुख्यमंत्री जी, 

आखिर रालोसपा के और कितने साथियों की बलि चाहिए, सुशासन की गरिमा को बनाये रखने के लिए ?

बेखौफ बदमाशों ने पूर्वी चंपारण के पकड़ीदयाल थानाक्षेत्र के चोरमा गांव के पास बुधवार की रात हथियारबंद बदमाशों ने एक निजी अस्पताल के संचालक सह रालोसपा के प्रखंड अध्यक्ष प्रेमचंद्र कुशवाहा को गोली मार मौत के घाट उतार दिया। गोली कुशवाहा के पेट में लगी थी।

घटना के बाद स्थानीय लोगों के सहयोग से उन्हें पकड़ीदयाल रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां से प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए उन्हें मोतिहारी रेफर कर दिया गया। लेकिन, वहां जाने के साथ उन्होंने दम तोड़ दिया। 

घटना की सूचना पर पकड़ीदयाल के डीएसपी दिनेश कुमार पांडेय व थानाध्यक्ष अशोक कुमार घटनास्थल पर पहुंचे। घटनास्थल से पुलिस ने एक हेलमेट बरामद किया है। यहां से निकलनेवाली सीमा से जुड़े थानों की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। संबंधित थानों की पुलिस भी क्षेत्र की नाकेबंदी कर छापेमारी कर रही है। 

बताया गया कि कुशवाहा पिछले डेढ़ साल से पकड़ीदयाल में निजी अस्पताल का संचालन कर रहे थे। बुधवार की देर शाम वे पकड़ीदयाल से अपने घर सुंदरपट्टी मझार जा रहे थे। इसी दौरान दौरान बाइक सवार हथियारबंद बदमाशों ने उन्हें काफी करीब से गोली मार दी। गोली ऐसी जगह मारी गई, जहां लोगों का आना-जाना काफी कम है।

इस बीच राहगीर व आसपास के लोगों की नजर पड़ी तो उन्हें पकड़ीदयाल अस्पताल लाया गया। यहां से मोतिहारी ले जाया गया। मोतिहारी के एक निजी अस्पताल में प्रेमचंद ने दम तोड़ दिया। बदमाशों की संख्या कितनी थी और उन्होंने किन कारणों से हत्या की इसका खुलासा नहीं हो पाया है।

हालांकि प्रारंभिक तौर पर भूमि विवाद कारण बताया जा रहा है। पुलिस व्यवसायी के घर व अन्य लोगों से जानकारी एकत्र कर छापेमारी कर रही है। घटना के बाद इलाके में दहशत है। 

कहा-पुलिस उपाधीक्षक ने 

घटना के बाद पुलिस बदमाशों के भागने की दिशा में छापेमारी कर रही है। घटना के कारणों का पता लगाया जा रहा है। प्रारंभिक जांच में भूमि विवाद कारण के तौर पर सामने आया है। परिजनों से जानकारी ली जा रही है। बदमाश समय रहते पकड़े जाएंगे। 

You Might Also Like