सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा- हम जागरूक होंगे तो रूकेगा भ्रष्टाचार

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा- हम जागरूक होंगे तो रूकेगा भ्रष्टाचार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहिम छेडऩे के लिए आम लोगों को भी आगे आने को कहा है। गोरखपुर में आज उन्होंने नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार खन्ना के साथ स्वच्छता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इसके साथ ही उन्होंने रैली में शामिल लोगों को स्वच्छता की शपथ भी दिलाई।रैली को रवाना करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राजस्थान दौरे पर रवाना हो गए। राजस्थान विधानसभा चुनाव में आज उनकी चुनावी रैलियां हैं। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम लोग जागरूक होंगे तो भ्रष्टाचार पर प्रभावी अंकुश लगेगा। यह तो अब बहुत जरूरी भी हो गया है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी के 150वीं जयंती के अवसर पर आज से 15 तारीख तक प्रत्येक विधानसभा में 150 लोगों की टोली सरकार के कार्यो को लोगों को बताएगी। जिससे कि आम जनता को भी सरकार की योजनाओं की जमीनी हकीकत पता चल रहे और वह लोग भी भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहिम छेड़ दें। उन्होंने कहा कि दुनिया के कई देश भारत की स्वच्छता मिशन से प्रभावित हो रहे है। अब तो हम लोग हर जगह को स्वच्छ करने की मुहिम में हैं। सफलता के लिए राह बनानी पड़ती है। पीएम नरेंद्र मोदी ने स्वच्छता के लिए अभियान चलाया था। जिसके बाद तो देश भी उनके साथ चल पड़ा।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सफलता के लिए इंतजार करने से बेहतर हैं कि खुद पहल करें। सफलता की राह खुद बनाएं। स्वच्छता की जो शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी वह अब आंदोलन बन चुका है। स्वच्छता को अपनाकर पूरे समाज को स्वच्छ कर सकते हैं। कूड़ा इधर-उधर न फेंक कर उसे डस्टबिन में ही डालें।

मुख्यमंत्री स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 में जनजागरूकता व जनसहभागिता बढ़ाने के लिए दीन दयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्‍वविद्यालय में आयोजित विशेष स्वच्छता रैली को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन का हिस्सा बनें तथा लोगों को जागरूक करें। स्वच्छता के महत्व को पूर्वांचल, खास कर गोरखपुर के लोगों से बेहतर कौन समझ सकता है। इस क्षेत्र में गंदगी की वजह से भी होने वाली बीमारी एईएस के कारण हर साल सैकड़ों बच्चे असमय मौत की नींद सो जाते हैं। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के कारण तस्वीर बदली है। लोगों में जागरूकता आई है आैर सफाई में बढ़ोतरी हुई है।

उन्होंने कहा कि सबसे बड़ी बाधा यह है कि लोग स्वयं पहल नहीं करते। इसी झिझक की वजह से गंदगी बनी हुई है। नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि स्वच्छता को आदत में शामिल करना होगा। रैपर व फलों के छिलकों को सड़क पर फेंकने के बजाय जेब में रखें तथा डस्टबिन दिखे तो उसमें डाल दें। लोगों की इसी सोच के कारण विदेशों में इतनी गंदगी नहीं है। वहां लोगों में सफाई को लेकर अनुशासन है। वे अपनी जिम्मेदारी मानते हुए सफाई में सहयोग कर रहे हैं। गोरखपुर के लोग भी इस तरह का अनुशासन स्वीकार कर सफाई को तवज्जो दें। शर्मनाक यह है कि इतने दिनों बाद भी सफाई जनआंदोलन नहीं बन सकी। अभी भी लोग इसे सरकारी जिम्मेदारी ही मान रहे हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज से शुरू इस पदयात्रा पर भी लोगों के साथ आयोजक नगर निगम गोरखपुर को शुभकामनाएं। यह रैली शहर के विभिन स्थानों पर घूमकर लोगों को जागरूक करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार ने गोरखपुर और अन्य नगर निगमो को स्वच्छता के लिए धनराशि स्वीकृत की। उन्होंने कहा कि हम लोग जागरूक हुए तो हमारा मोहल्ला, वार्ड, नगर ,प्रदेश नम्बर एक बन सकते हैं। हम लोग जागरूक हो इसलिए जागरकता रैली है। हम लोग इस माध्यम से लोगों को जागरूक करे। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छता हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा है। हम लोगों के लिए गौरव का विषय, हमने काफी अभियान चलाया लेकिन आज स्वच्छता रैली में भीड़ एतिहासिक है। 

You Might Also Like