जानिए डीएम को क्‍यों कराना पड़ा अपनी गाड़ी का चालान

जानिए डीएम को क्‍यों कराना पड़ा अपनी गाड़ी का चालान

वाहनों का चालान काटने को लेकर चर्चा में रहने वाले जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान की गाड़ी का पुलिस ने शुक्रवार को नो पार्किंग का चालान किया। भले ही यह चालान पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर नहीं, बल्कि जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान के निर्देश पर ही पुलिस को करना पड़ा।

उत्तरकाशी में शुक्रवार की दोपहर को विश्वनाथ चौक पर सौंदर्यीकरण का लोकार्पण कार्यक्रम आयोजित किया था। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जिलाधिकारी अपनी गाड़ी से विश्वनाथ चौक पर पहुंचे। चालक ने विश्वनाथ चौक के निकट ही जिलाधिकारी के वाहन को खड़ा किया। इसके साथ ही इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए भाजपा कार्यकर्ता तथा कार्यक्रम को कवर करने के लिए पत्रकार भी अपने वाहनों से पहुंचे व वाहनों को आसपास ही पार्क किया।

नो पार्किंग में खड़े वाहनों को देख कर जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने पुलिस को चस्पा चालान करने के निर्देश दिए। डीएम के निर्देश पर पुलिस ने भी अपनी कार्रवाई शुरू की। अपने वाहनों के चालान होते देख पत्रकारों व कुछ स्थानीय लोगों ने डीएम के वाहन पर भी सवाल उठाया कि डीएम का वाहन भी तो नो पार्किंग में खड़ा है। जब यह बात जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने सुनी तो उन्हें भी मजबूरी में अपने वाहन के चालान करने के निर्देश पुलिस को देने पड़े। इसके बाद पुलिस महिला दरोगा ने डीएम के वाहन का भी चालान काटा और चस्पा कर दिया।

गौरतलब है कि उत्तरकाशी में जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान पिछले काफी समय से वाहनों की जांच के लिए खुद ही सड़क पर जांच करते हुए नजर आते हैं। इस दौरान उन्होंने कई वाहनों के चालान भी करवाए। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने जनपद की हर पुलिस चौकी को निर्देश दिए हैं कि बिना हेलमेट, तेज रफ्तार, बिना लाइसेंस, नो पार्किंग आदि के लिए प्रति दिन 20 चालान करें।

You Might Also Like