यूपी में 69 हजार सहायक अध्यापकों की भर्ती के ऑनलाइन आवेदन छह से

यूपी में 69 हजार सहायक अध्यापकों की भर्ती के ऑनलाइन आवेदन छह से

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार सिपाही भर्ती के बाद अब शिक्षकों की बम्पर भर्ती करने की तैयारी में हैं। उत्तर प्रदेश के परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 69 हजार शिक्षकों की भर्ती के ऑनलाइन आवेदन छह दिसंबर से होंगे। इससे पहले पांच दिसंबर को इसके लिए विज्ञापन जारी होगा। परीक्षा छह जनवरी को होगी।

बेसिक शिक्षा विभाग ने परीक्षा का पूरा कार्यक्रम घोषित कर दिया। इसके अनुसार शिक्षक भर्ती के लिए छह दिसंबर से ऑनलाइन आवेदन के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू होंगे। रजिस्ट्रेशन की अंतिम तारीख 20 दिसंबर होगी। आवेदन शुल्क जमा करने की अंतिम तारीख 21 दिसंबर रखी गई है। अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा डॉ.प्रभात कुमार के अनुसार आवेदन पूर्ण करने और प्रिंट लेने की अंतिम तारीख 22 दिसंबर होगी। 23 दिसंबर तक जिला समितियां केंद्र निर्धारण कर देंगी। 31 दिसंबर को प्रवेश पत्र अपलोड करने की सूचना जारी कर दी जाएगी। चार जनवरी को डबल लॉक में रखने के लिए उत्तर पुस्तिकाएं जिला मुख्यालयों को भेज दी जाएगी।

छह जनवरी को सुबह 11 बजे से अपराह्न 1.30 बजे तक सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा-2019 प्रदेश के विभिन्न केंद्रों पर होगी। परीक्षा की उत्तर पुस्तिका ऑप्टिकल मार्क रिकॉग्निशन (ओएमआर) आधारित होगी। परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि आठ जनवरी को उत्तरमाला वेबसाइट पर जारी कर दी जाएगी। 11 जनवरी तक उत्तरमाला पर आपत्तियां ली जा सकेंगी। आपत्तियों पर निर्णय 19 जनवरी को वेबसाइट पर डाला जाएगा। 22 जनवरी को परीक्षाफल घोषित किया जाएगा। इसके एक माह के भीतर जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों को प्रमाण पत्र प्रेषित कर दिए जाएंगे।

सात साल के अंतराल के बाद बीएड डिग्रीधारियों को प्राथमिक स्तर की भर्ती में अवसर दिया गया है। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने 28 जून को अधिसूचना जारी कर बीएड डिग्रीधारियों को प्राथमिक स्तर की भर्ती में अवसर दिया था। प्राथमिक स्तर की टीईटी 2018 में भी बीएड अभ्यर्थियों को मौका मिला था। इस बार प्राइमरी स्तर की शिक्षक भर्ती में बीएड डिग्रीधारक भी अहर्ता माने जाएंगे। पहले बेसिक शिक्षक भर्ती के लिए बीएड की डिग्री मान्य थी, लेकिन बीच में इसे हटा दिया गया था। 

शिक्षामित्रों के लिए आखिरी मौका 

परिषदीय विद्यालयों में समायोजित हो चुके शिक्षामित्रों के लिए शिक्षक बनने का यह आखिरी मौका होगा। शिक्षामित्रों के कई प्रदर्शन के बाद सरकार की तरफ से उन्हें दो भर्तियों में शामिल होने का मौका देने का आश्वासन मिला था। 

नियमावली में होगा संशोधन 

सहायक अध्यापकों की भर्ती का विज्ञापन जारी होने से पहले बेसिक शिक्षा नियमावली में संशोधन किया जाएगा। इस संबंध में सोमवार को कैबिनेट में प्रस्ताव लाया जाएगा। संशोधन के बाद 69,000 शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा अब नये पैटर्न पर होगी। इसमें अति लघु उत्तरीय की जगह बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे और अन्य परीक्षाओं की तरह ओएमआर शीट दी जाएगी। शीट कम्प्यूटराइज्ड तरीके से चेक होगी। 

बढ़ सकते हैं पद 

जानकारी के मुताबिक, पांच दिसंबर को भर्ती का विज्ञापन जारी होने तक पदों की संख्या बढ़ाई जा सकती है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद शिक्षकों के पद के लिए हुआ शिक्षामित्रों का समायोजन निरस्त कर दिया था। इसके चलते शिक्षकों के 1.37 लाख पद खाली हो गए थे। इन पदों को भरने के लिए मई 2018 में शिक्षक भर्ती परीक्षा हुई। इसमें लिखित परीक्षा में 41,556 अभ्यर्थी सफल हुए, लेकिन 41,000 ने ही नियुक्ति के लिए आवेदन किया। 27,500 पद खाली रह गए। इसके चलते बेसिक शिक्षा विभाग ने सभी जिलों में तैनात अधिकारियों से उनके यहां खाली पड़ी सीटों का ब्योरा मांगा है। अगर इन खाली पदों को भी भर्ती प्रक्रिया में शामिल किया गया तो सहायक अध्यापकों के करीब 93,000 पदों के लिए आवेदन मांगे जा सकते हैं। 

69,000 सहायक अध्यापकों की भर्ती का शासनादेश जारी होने पर माना जा रहा है कि सरकार ने अंतर पैदा करने के लिए पदों की संख्या 500 बढ़ा दी है। पहले सरकार ने 68,500 शिक्षकों दो भर्ती का निर्णय लिया था। लेकिन पिछली 68,500 शिक्षक भर्ती में विवाद होने के कारण 6 जनवरी को होने जा रही दूसरी भर्ती परीक्षा में पद 69,000 कर दिए गए हैं। पिछली भर्ती में विवाद के चलते ही उसमें रिक्त तकरीबन 27,000 पदों को नई भर्ती में नहीं जोड़ा गया है।

सूबे की योगी सरकार में दूसरी बड़ी भर्ती प्रक्रिया का शासनादेश जारी कर दिया है। 27 मई 2018 को हुए शिक्षक भारती प्रक्रिया में गड़बडिय़ों की वजह से हुई किरकिरी को देखते हुए इस बार तीन महत्वपूर्ण बदलाव हैं। परीक्षा में इस बार बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। पहले कट ऑफ निर्धारित किया गया था, लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा। मेरिट के आधार पर अभ्यर्थी चयनित होंगे। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि बीएड डिग्री धारक भी इस बार परीक्षा दे सकेंगे, लेकिन केवल प्राथमिक टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थी ही इसमें शामिल हो सकेंगे। बेसिक शिक्षा विभाग ने 68500 पदों में 500 और पदों को जोड़ते हुए आवेदन आमंत्रित किए हैं। विभाग का प्रयास है कि 22 जनवरी तक रिजल्ट घोषित कर लोकसभा चुनाव से पहले फरवरी में ही सभी को नियुक्ति दे दी जाए। इसके लिए विभाग ने पूरी तैयारी कर ली है। 

You Might Also Like