तेजप्रताप’ को घर की आयी याद, होटल छोड़ दोस्त के घर खाया लिट्टी-चोखा

तेजप्रताप’ को घर की आयी याद, होटल छोड़ दोस्त के घर खाया लिट्टी-चोखा

तेजप्रताप यादव पटना में रहते हुए भी घर नहीं जाकर होटल में रह रहे हैं। राजद सुप्रीमो लालू के लाल अपने परिवार के सदस्यों से नाराज हैं। पिछले चार दिनों से पटना में रहते हुए भी कभी होटल में तो कभी दोस्तों के घर घूम रहे हैं। इधर, वो होटल का खाना खाकर परेशान हो गए हैं और जब घर के खाने की याद आई तो रविवार की देर शाम उन्होंने अभिनंदन यादव के खगौल स्थित घर पर लिट्टी चोखा खाया।

तेजप्रताप को कौन कर रहा आर्थिक मदद, लालू लगा रहे पता

इधर, लालू-राबड़ी तेजप्रताप की जिद से लगातार परेशान हैं। जानकारी के मुताबिक लगातार करीब एक महीने से घर से बाहर रहने और इधर-उधर यात्रा दर यात्रा करने के दौरान उन्हें आर्थिक मदद करने वाले की पहचान की जा रही है। पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के दस सर्कुलर रोड स्थित आवास से लेकर पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं के बीच यह चर्चा का विषय बना हुआ है। 

राजद सूत्रों के अनुसार, लालू प्रसाद स्वयं तेजप्रताप के मददगारों की पहचान करने और उन्हें शरण देने वालों के बारे में पता लगा रहे हैं। पार्टी नेतृत्व तेजप्रताप के इन मददगारों को पार्टी और परिवार के लिए नुकसानदेह मान रहा है।  

तलाक की जिद पर अड़े हैं तेजप्रताप

तेजप्रताप अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक लेने की जिद पर अड़े हैं। उन्होंने इस संबंध में परिवार न्यायालय में दाखिल किए गए आवेदन को लेकर 29 नवंबर को कोर्ट में उपस्थिति भी दर्ज करा दी है। इसके बाद भी घर नहीं गए हैं। तेजप्रताप ने साफ कह दिया है कि वो अपने फैसले को बदल नहीं सकते। वो अपने फैसले पर अडिग हैं। वहीं परिवार के लोग चाहते हैं कि दोनों का तलाक ना हो और इसे लेकर उन्हें मनाने की कोशिश की जा रही है। उनपर पहले भी तलाक की अर्जी वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा था। इसीलिए वो घर नहीं जा रहे हैं।

तेजप्रताप ने तीन लोगों को घर से निकालने की मांग की थी 

तेजप्रताप पारिवारिक सहयोगियों से नाराज हैं और उन्होंने तीन लोगों को घर से हटाने की मांग रखी थी। वो तीन लोग हैं-ओमप्रकाश यादव, जो तेजप्रताप के स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए उनके पीए हुआ करते थे। दूसरे हैं-नागमणि जो राबड़ी देवी का काम देखते हैं। तीसरे हैं-विपिन जो चंद्रिका राय के पीए हैं। तेजप्रताप इन तीनों से नाराज हैं और उन्होंने तीनों की घर में इंट्री करने पर रोक लगाने की मांग की थी।

पटना में ले रहे नया आवास, वहां करेंगे गृह-प्रवेश

मिली जानकारी के अनुसार तेजप्रताप यादव ने पटना में रहने के लिए बतौर विधायक नए आवास के आवंटन का आवेदन सरकार को दिया है। सूत्र बताते हैं कि इसपर सकारात्मक विचार करते हुए उन्‍हें आवास आवंटित करने पर फैसला जल्‍द ही हो जाएगा। एक-दो सप्‍ताह में उन्हें नया आवास मिल जाने की उम्मीद है। इसके बाद तेजप्रताप विधि-विधान से पूजा-पाठ करके अपने नए सरकारी आवास में प्रवेश कर सकते हैं।

अलग सरकारी आवास के लिए दिया है आवेदन

विधायक की हैसियत से तेज प्रताप ने हार्डिंग रोड स्थित दो नंबर आवास आवंटित कराने के लिए आवेदन दिया है। यह आवास अभी खाली है। किंतु विभाग के प्रधान सचिव के विदेश दौरे पर चले जाने के कारण आवंटन में कुछ दिन समय लग सकता है। 

You Might Also Like