दिल्ली: 2 हजार रुपये के लिए दोस्त की ले ली जान, जानिए क्या है पूरा मामला

दिल्ली: 2 हजार रुपये के लिए दोस्त की ले ली जान, जानिए क्या है पूरा मामला

उत्तर पश्चिम दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में मंगलवार रात सिर्फ दो हजार रुपये के लिए एक युवक ने अपने दोस्त की चाकू घोपकर हत्या कर दी। मृतक की पहचान 26 वर्षीय महताब आलम के रूप में हुई है। पुलिस मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश कर रही है। डीसीपी असलम खान के अनुसार, महताब परिवार सहित जहांगीरपुरी ई-ब्लॉक में रहता था।

घर में मां नफीसा और बड़े भाई वसीउर्रहमान का परिवार है। वह ओला में कैब चलाकर परिवार का गुजर बसर कर रहा था। परिजनों के मुताबिक, महताब ने अपने किसी दोस्त को दो हजार रुपये दिए थे। रुपये वापस मांगने पर उसके दोस्त और उसके साथियों ने महताब से हाथापाई की थी।

महताब की मामी नजमा ने बताया कि मंगलवार रात करीब 9:30 बजे किसी ने उसे फोन कर बाहर बुलाया, लेकिन महताब ने खाना खाने की बात कही। इसके करीब आधे घंटे बाद दोबारा फोन आया तब महताब अपनी मां से दो मिनट में आने की बात कहकर चला गया। करीब एक घंटे तक वह नहीं लौटा तो परिजनों को चिंता हुई।

वहीं, करीब 11 बजे जहांगीपुरी थाने के पुलिसकर्मी ने फोनकर बताया कि महताब घायल हालत में बाबू जगजीवन राम अस्पताल में भर्ती है। मगर, जब तक परिजन अस्पताल पहुंचे महताब की मौत हो चुकी थी। परिजनों का कहना है कि रुपये के लेनदेन के कारण ही उसकी हत्या हुई है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया है। फिलहाल, पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

परिजनों के मुताबिक, महताब ने चार साल पहले टैक्सी खरीदी थी। वह दिन में खुद ओला में टैक्सी चलाता था और रात को टैक्सी को दूसरा चालक किराए पर चलाता था। दरअसल, महताब के बड़े भाई वसीउर्रहमान को नशे की लत है। इसकी वजह से उसका नशा मुक्ति केंद्र में इलाज भी हुआ था। इस वजह से मां नफीसा और बड़े भाई के परिवार की जिम्मेदारी महताब पर ही थी। इसलिए वह जी तोड़ मेहनत कर रहा था।

मां ने पाला था दोनों भाइयों को

करीब 23 साल पहले महताब के पिता की मौत हो गई थी। तब दोनों भाई बहुत छोटे थे और जहांगीरपुरी में एक कमरे के मकान में रहते थे। अपने पति की मौत के बाद नफीसा ने अपने दोनों बेटों को किसी तरह से पाला पोसा। इस काम में उसके भाई की भी सहायता मिली। हालांकि, बड़े होने पर महताब ने समय से पहले ही अपने सिर पर परिवार की जिम्मेदारी ले ली थी।

You Might Also Like