मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में नया खुलासा, कबाड़ में बेच दी गईं 19 गाडि़यां

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में नया खुलासा, कबाड़ में बेच दी गईं 19 गाडि़यां

बालिका गृह का संचालन करनेवाली संस्था सेवा संकल्प एवं विकास समिति के 19 वाहनों का पता नहीं चल पा रहा। कार्रवाई से बचने के लिए इसे कबाड़ में बेचने की आशंका जताई जा रही। जिला परिवहन विभाग द्वारा इन वाहनों की खरीद-बिक्री पर रोक लगाने के बाद जब्त होने की कार्रवाई से बचने के लिए आनन-फानन यह कदम उठाया गया है। जिला परिवहन कार्यालय द्वारा भेजे गए नोटिस का जवाब नहीं देने व जांच के बाद वाहनों को कबाड़ की दुकानों में बेचने की आशंका है। इस संबंध में जिलाधिकारी को रिपोर्ट भेज दी गई है।

ये है वाहन जिनका नहीं चल रह पता

-सेवा संकल्प एवं विकास समिति के संजय कुमार के नाम पर बीआर06पीए 2156 नंबर का मङ्क्षहद्रा ऑटो।

-सचिव रमेश कुमार के नाम पर बीआर06जेड 3189 बाइक, बीआर06एए 6391 बाइक, बीआर06एजी 6559 टैक्टर, बीआर06एई 6604 बाइक, बीआर06एपी 7859 बाइक।

-सदस्य संगीता सुभाषिनी के नाम पर बीआर06एपी 8790 बाइक, बीआर06एआर 1777 वैगन-आर कार, बीआर06जीसी 0928 टैक्टर व बीआर06जीसी 0929 ट्रेलर।

कोषाध्यक्ष प्रयागनाथ तिवारी के नाम बीआर06पीए 6529 मोटर कैब, बीआर06वाई 2603 बाइक, बीआर06एए 1644 बाइक, बीआर06एए 4896, बीआर06एजी 7364 बाइक, बीआर06एएम 0711 बाइक, बीआर06एक्यू 4871, बीआर06एटी 6624 बाइक व बीआर06एयू 8500 बाइक।

 डीटीओ मो. नजीर अहमद ने कहा सेवा संकल्प व विकास समिति के पदाधिकारियों के नाम से निबंधित वाहनों की खरीद बिक्री पर रोक लगा दी गई थी। इन वाहनों का कोई ट्रेस पता नहीं चल रहा। नोटिस भी वापस लौट आए हैं।

You Might Also Like