नाथन लॉयन बार-बार खाते रहे DRS से मात और मुस्कुराते रहे इंडियन

नाथन लॉयन बार-बार खाते रहे DRS से मात और मुस्कुराते रहे इंडियन

ऑस्ट्रेलिया के स्टार स्पिनर नाथन लॉयन के लिए डिसीजन रिव्यू सिस्टम (DRS) पहले टेस्ट मैच में किसी बुरे सपने की तरह रहा है. एडिलेड में खेले जा रहे इस मैच में भारत की दूसरी पारी में नाथन लॉयन ने तीन बार डीआरएस की वजह से नाकाम रहे. मजेदार बात यह रही कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे मैच में नाथन तीनों बार डीआरएस की वजह से विकेट लेने में नाकाम रहे. मैच के चौथे दिन नाथन लॉयन ने अजिंक्य रहाणे के विकेट के लिए डीआरएस का इस्तेमाल रहा, लेकिन वह नाकाम रहे. इससे पहले खेल के तीसरे दिन भी वह दो बार चेतेश्वर पुजारा की बारी में डीआरएस के मामले में चूक गए थे. 

पहले टेस्ट मैच में यह तीसरा मौका था, जब मैदान पर खड़े अंपायर ने उंगली उठा कर बल्लेबाज को आउट करार दिया. लेकिन रिव्यू के बाद बल्लेबाज नॉट आउट दिए गए. ताजा मामला अजिंक्य रहाणे का है. बल्लेबाज ने एक उछलती हुई गेंद को फॉर्वर्ड डिफेंसिव खेला. गेंद हवा में उछली और एरोन फिंच के हाथों में गई. अंपायर ने उंगली उठा दी. 

अजिंक्य रहाणे जानते थे कि गेंद उनके बल्ले से नहीं टकराई. उन्होंने सीधा डीआरएस का इशारा किया. रिप्ले में दिखा कि गेंद उनके बल्ले या गलव्स से छूकर नहीं गई. लिहाजा रहाणे नॉट आउट करार दिए गए.

खेल के तीसरे दिन भी नाथन लॉयन दो बार डीआरएस की वजह से विकेट लेने से चूक गए थे. खेल के 40वें ओवर में चेतेश्वर पुजारा 40 वें ओवर में वे 17 रन बनाकर खेल रहे थे. इस बार लॉयन की बॉल पर पुजारा ने फ्रंट फुट पर डिफेंसिव शॉट खेलने की कोशिश की, लेकिन गेंद उनके पैड पर लगी. जोरदार अपील पर अंपायर ने उन्हें एलबीडब्ल्यू दिया. जोरदार अपील को अंपायर ठुकरा नहीं सके, लेकिन पुजारा ने डीआरएस लिया. पुजारा को नॉटआउट करार दिया गया. इस तरह पुजारा बच गए.

इससे पहले 25वें ओवर तक टीम इंडिया का स्कोर दो विकेट पर 76 रन था, तब ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने भारत पर दबाव बनाने की कोशिश की. इससे पहले 24वें ओवर में नाथन लॉयन की गेंद पर ऑस्ट्रेलिया ने कॉट बिहाइंड की अपील की, जिस पर अंपायर ने पुजारा को आउट दे दिया. पुजारा ने सीधे राहुल से बात करके रीव्यू ले लिया, जिस पर वे नॉट आउट करार दिए गए क्योंकि डीआरएस में अल्ट्राएज ने बताया कि गेंद उनके बल्ले से छूकर गई ही नहीं थी. उस समय पुजारा ने 25 गेंदों मे 8 रन बनाए थे.

आखिर में नाथन लॉयन ने पुजारा और रहाणे को पवेलियन की राह दिखाई. चेतेश्वर पुजारा (71) और अजिंक्य रहाणे (70) की शानदार पारियों के दम पर भारतीय क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जारी पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन रविवार (9 दिसंबर) को अपनी दूसरी पारी में 307 रनों का स्कोर खड़ा किया.

बता दें कि एडिलेड ओवल मैदान पर जारी मैच में इस पारी के दम पर भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 323 रनों का लक्ष्य दिया है. इस पारी में ऑस्ट्रेलिया के लिए नाथन लॉयन ने सबसे अधिक छह विकेट लिए. वहीं, मिचेल स्टॉर्क को तीन विकेट हासिल हुए. जोश हेजलवुड ने एक विकेट लिया.

You Might Also Like