रानी चटर्जी के इस बयान से नाराज हो सकते हैं निरहुआ

रानी चटर्जी के इस बयान से नाराज हो सकते हैं निरहुआ

 भोजपुरी की क्‍वीन रानी चटर्जी को सोशल मीडिया अपने एक बयान की वजह से ट्रोल हो रही हैं, क्‍योंकि उन्‍होंने एक इंटरव्यू में कहा दिया था कि वह दिनेशलाल यादव निरहुआ, खेसारीलाल यादव और पवन सिंह की फिल्‍में नहीं देखती हैं. इसके बाद क्‍या था, भोजपुरी सिनेमा के इन स्‍टारों के फैंस ने रानी चटर्जी को ट्रोल करना शुरू कर दिया. कइयों ने तो रानी की फिल्‍म का बहिष्‍कार करने तक की बात कर दी. इसके बाद रानी भी चुप कहां रहने वाली थी, उन्होंने सोशल मीडिया पर ट्रोलर्स की जमकर क्‍लास लगा दी.

रानी ने लिखा– ‘ये पोस्‍ट उन खास लोगों के लिए है, जो फैंस के नाम पर कुछ भी कमेंट करते हैं. मैंने एक इंटरव्यू में कहा कि मैं दिनेश जी, खेसारी जी या पवन जी की फिल्‍में नहीं देखती हूं, तो कुछ फैंस को कुछ ज्‍यादा ही बुरा लगा. वे बेमतलब के कमेंट करने लगे. इसमें बुरा मानने वाली क्‍या बात है. कभी इन सब से पूछिए कि सबकी फिल्‍में देखते हैं? नहीं…. वक्‍त ही नहीं मिलता होगा. तो मैंने भी यही कहा कि मैं नहीं देखती.’

रानी ने आगे लिखा- ‘कुछ अलग फिल्‍में आए तो देखने में मजा भी आए और ये तीनों के फैंस इतने बदतमीज हैं जिसका कोई हिसाब नहीं. दे आर नॉट फैंस दे आर चम्‍चाज एक्‍चुअली. फैंस तो बहुत अच्‍छे होते हैं. मैं बस इतना कहना चाहती हूं कि अगर फैंस हैं तो तमीज सीखो, क्‍योंकि आपके कमेंट्स के साथ आपके पसंदीदा कलाकार का नाम जुड़ा है और यह सच है कि मैं इनकी फिल्‍में नहीं देखती. देखे हुए जमाना हुआ.’ रानी ने ट्रोलर्स को तो जवाब दे दिया, मगर रानी ने जो कहा था, उस पर लोगों को भड़कना तय था.’

गौरतलब है कि हा ही में रानी से जब पत्रकारों ने खेसारीलाल यादव की फिल्‍म ‘दबंग सरकार’ के बारे में पूछा तो रानी ने साफ कह दिया कि वे भोजपुरी के इन स्‍टारों (निरहुआ, खेसारीलाल और पवन सिंह) की फिल्‍में नहीं देखती. उन्‍होंने कहा था कि सेम शक्‍लें देखकर थक चुकी हूं. इसलिए इनकी फिल्‍में नहीं देखती हूं. मैंने अंतिम बार जो भोजपुरी फिल्‍म देखी थी, वो प्रदीप पांडेय चिंटू की फिल्म ‘मेहदीं लगा के रखना 2’ थी. मैं भोजपुरी फिल्‍में और ट्रेलर को ज्यादा फॉलो नहीं करती हूं. ऐसा नहीं है कि मैं भोजपुरी फिल्में नहीं देखती हूं जब अच्छी फिल्में रिलीज होती है तो मै जरूर देखती हूं.

You Might Also Like