यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने दी सफाई-मैंने हनुमानजी की जाति नहीं बताई थी

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने दी सफाई-मैंने हनुमानजी की जाति नहीं बताई थी

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने छत्तीसगढ़ में चुनाव प्रचार के दौरान हनुमान जी की जाति वाले अपने बयान पर पटना में भी सफाई दी। बुधवार को उन्होंने यहां कहा कि मैंने तो सिर्फ इतना कहा था कि हनुमान जी दबे-कुचले, कमजोर और वंचितों को ताकत देते हैं, लेकिन मेरे इस बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया।

तीन राज्यों राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में भाजपा को मिली करारी हार पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने झूठ बोलकर सत्ता हासिल की है। वे जल्द ही एक्सपोज होंगे। लोकतंत्र में हार-जीत का खेल तो चलता रहता है। भाजपा हार और जीत दोनों को स्वीकार करती है। लोकतंत्र की यही तो खूबी है।

उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद दूसरी बार पटना आए योगी आदित्यनाथ पटना जंक्शन के समीप महावीर मंदिर में पूजा-अर्चना करने के बाद संवाददाताओं से बातचीत की। 

हार-जीत का खेल चलता रहता है, हमें हार स्वीकार है

राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ की हार पर योगी ने कहा कि वहां कांगे्रस ने झूठ बोलकर सत्ता हासिल की है। जल्द ही वह एक्सपोज होगी। लोकतंत्र में हार-जीत का खेल तो चलता रहता है। भाजपा हार और जीत दोनों को स्वीकार करती है। लोकतंत्र की यही तो खूबी है।

उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश और राजस्थान में भाजपा ने बड़ी ही मजबूती के साथ चुनाव लड़ा है। यह ठीक है कि चुनाव परिणाम हमारी उम्मीदों के विपरीत हैं, लेकिन हमने भी अपनी बात जनता के सामने बड़ी मजबूती के साथ रखा है। लोकतंत्र में हार-जीत तराजू के दो पलड़े हैं। हमने यदि जीत को स्वीकार किया तो हार को स्वीकार करने के लिए भी तैयार रहना होगा। 

हारते हैं तो ईवीएम पर सवाल, जीतने पर चुप्पी क्यों

उन्होंने ईवीएम को लेकर विपक्षी दलों पर निशाना भी साधा। कहा कि भाजपा जब चुनाव जीतती है, तभी लोग ईवीएम पर सवाल उठाते हैं। भाजपा जब हार जाती है, तो ईवीएम पर कोई सवाल नहीं करता। चुनाव आयोग एक संवैधानिक संस्था है और उस पर सवाल उठाना उचित नहीं है। 

सीता विवाह पंचमी के लिए गए थे जनकपुरधाम 

योगी आदित्यनाथ बुधवार को नेपाल के जनकपुरधाम में भगवान राम और सीता के विवाह पंचमी समारोह में शामिल हुए। वहां से शाम को पटना पहुंचे। उनका पटना हवाईअड्डा पर भव्य स्वागत किया गया। उनके साथ उत्तर प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन भी हैं। 

स्वामी हरिनारायणानंद जी से मिलने पटना आए थे योगी 

वह पटना हवाईअड्डा से सीधे राजभवन गए। बिहार के राज्यपाल लाल जी टंडन से शिष्टाचार मुलाकात की। उसके बाद वे भारत साधु समाज के महामंत्री स्वामी हरिनारायणानंद जी से कुशलक्षेम जानने पारस अस्पताल पहुंचे। हरिनारायणानंद जी बीमार हैं। यहां योगी आदित्यनाथ करीब 15 मिनट रहे। फिर महावीर मंदिर गए।

वहां से योगी सीधे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सरकारी आवास एक अणे मार्ग पहुंचे। नीतीश और योगी के बीच करीब 15 मिनट तक बातचीत हुई। इस मौके पर पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव भी मौजूद थे। राजभवन में योगी के स्वागत में देर शाम भोज का भी आयोजन किया गया था, जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी शिरकत की।

You Might Also Like