भाजपा विधायक ने महिला एसडीएम को हड़काया, कहा- आपको मेरे ताकत का एहसास नहीं

ताजनगरी आगरा में ठंड के मौसम में कल जनप्रतिनिधि तथा जिला प्रशासन के बीच तीखी झड़प के बाद गरमी बढ़ गई। यहां पर तहसील में विधायक और एसडीएम में नोकझोंक के बाद माहौल गरमा गया। महिला एसडीएम ने विधायक चौधरी उदयभान सिंह पर अनैतिक काम करने का दबाव बनाने का आरोप लगाया।

आगरा में ओलावृष्टि, दैवीय आपदा के मुआवजे के लिए आठ महीने से परेशान किसान कल भड़क गए। इसके बाद उन्होंने तहसील को घेर लिया। किसानों की समस्या जान मौके पर पहुंचे विधायक चौधरी उदयभान सिंह की एसडीएम से तीखी बहस हो गई। इसके बाद किसानों के साथ भाजपा के नेताओं ने अधिकारियों को एक सप्ताह का समय देते हुए चेतावनी दी कि इसके बाद बच्चों, पशुओं के साथ तहसील घेरेंगे।

प्रधान गया प्रसाद शर्मा, सहकारी बैंक जिला संयोजक रामेश्वर वर्मा के साथ सैकड़ों किसान पहले विधायक चौधरी उदयभान सिंह के किरावली तहसील के सामने कार्यालय पर पहुंच गए। किसानों ने कार्यालय घेर लिया, लेकिन विधायक के न होने पर सभी तहसील पहुंच गए। किसानों ने वहां नारेबाजी शुरू कर दी। मौके पर पहुंची एसडीएम गरिमा सिंह ने किसानों को समझाने का प्रयास किया।

किसान नहीं माने तो उन्होंने पुलिस को बुला लिया। इसी बीच विधायक उदयभान सिंह भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने एसडीएम के समक्ष किसानों की बात को रखा। इसी बीच तहसीलदार और लेखपाल पर एक किसान ने आरोप लगाए तो एसडीएम कागजों में कमी बता किसान पर नाराज हो गईं। इस पर विधायक भड़क गए। उन्होंने अधिकारियों पर मनमानी का आरोप लगाते हुए किसानों से अच्छा व्यवहार करने की नसीहत दे डाली। एसडीएम व विधायक में तीखी बहस हो गई।

विधायक ने एसडीएम पर अभद्रता का आरोप लगाते हुए मामले को विधानसभा में उठाने की बात कही। उन्होंने सप्ताहभर में किसानों को मुआवजा न मिलने पर तहसील में किसानों, पशुओं, बच्चों के साथ धरना देने की चेतावनी दी। किसानों ने भी उनका समर्थन किया। विधायक ने इस दौरान सीकरी दरगाह के 500 मीटर दायरे में सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना कर निर्माण, लैंड यूज चेंज करने आदि में भी भ्रष्टाचार के भी आरोप लगाए। उन्होंने सींगना में अवैध खनन में अधिकारियों की संलिप्ता की भी बात कही।

अवैधानिक कार्यो के लिए दबाव बनाने का प्रयास

एसडीएम किरावली गरिमा सिंह का कहना है कि भाजपा विधायक चौधरी उदयभान सिंह ने अशोभनीय भाषा का प्रयोग किया। भयंकर सर्दी के मौसम में भ्रामक सूचना देकर किसानों को परेशान किया गया। प्रधान गया प्रसाद, जितेंद्र सिंह व उनके बड़े भाई रामेश्वर सिंह व अन्य लोगों ने निजी हित साधने का प्रयास किया। अवैधानिक कार्यो को कराने के लिए दबाव बनाने का प्रयास किया गया।

तूल पकड़ सकता है मामला

पीसीएस अफसर के साथ अशोभनीय भाषा का मामला तूल पकड़ा सकता है। इसकी जानकारी पीसीएस संघ के पदाधिकारियों को दी गई है। आज यहां पर अफसरों की बैठक होने जा रही है।

एसडीएम का खराब व्यवहार

विधायक चौधरी उदयभान सिंह ने कहा कि एसडीएम ने किसानों से खराब व्यवहार किया। किसानों का हक देने में देरी की जा रही है। साथ ही खनन कराया जा रहा है और सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की अवहेलना हो रही है। यह पूरा मामला विधानसभा में उठाया जाएगा।

नियम के खिलाफ नहीं होगा काम

डीएम एनजी रवि कुमार ने कहा कि एसडीएम किरावली ने घटना की जानकारी दी है। नियम के खिलाफ कोई भी कार्य नहीं किया जाएगा। मामले की रिपोर्ट मांगी गई है। 

Related Articles

Live TV
Close