सपा-बसपा गठबंधन के बाद अब तीसरा मोर्चा बना रही मायावती, इन दलों को ले सकती है साथ

सपा-बसपा गठबंधन के बाद अब तीसरा मोर्चा बना रही मायावती, इन दलों को ले सकती है साथ

आगामी लोकसभा चुनाव के पहले उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) के बीच गठबंधन को लेकर चर्चा अंतिम चरण में पहुँच गई है, बताया जा रहा है कि सीटों के बंटवारे पर दोनों पार्टियों के बीच सहमति बन चुकी है और अब इसे अंतिम रूप देने की कवायद चल रही है. बसपा के एक दिग्गज नेता ने कहा कि बसपा अध्यक्ष मायावती इस माह के अंत में या फिर नव वर्ष के आरम्भ में सीट शेयरिंग को अंतिम रूप दे सकती हैं. उन्होंने बताया कि अगर कुछ सीटों को छोड़ दिया जाए तो बाकी सीटों पर लगभग बात तय हो चुकी है. एक बार गठबंधन होने के बाद बाकी की सीटों के बंटवारे को भी सुलझा लिया जाएगा.

बसपा नेता ने कहा कि बसपा अध्यक्ष मायावती तीसरा मोर्चा बनाने के प्रयास में है, जिसमे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस शामिल नहीं होगी. बसपा नेता ने दावा किया है कि सपा के अलावा आईएनएलडी और जनता छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने मायावती का नाम प्रधानमंत्री पद के लिए आगे बढ़ाने पर सहमति प्रदान की है. माना जा रहा है कि सीट शेयरिंग के अलावा मायावती पार्टी के भीतर भी बदलाव करने के विचार में है और जो नेता और पदाधिकारी अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं उनकी छुट्टी कर दी जाएगी.

कीच ही दिनों मायावती प्रदेश में आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर होने की जाने वाली तैयारियों से जुड़ी एक बैठक में आगे की रणनीति निर्धारित करेंगी. इस दौरान वे सीटों के बंटवारे समेत तमाम मुद्दों पर पार्टी के पदाधिकारियों को जानकारी प्रदान करेंगी.  पार्टी के एक अन्य नेता में कहा है कि मायावती, अखिलेश यादव, एचडी देवेगौड़ा, अजीत जोगी, अभय सिंह चौटाला, हेमंत सोरेन भी तीसरे मोर्चे में शामिल हो सकते हैं. माना जा रहा है कि आज केसीआर भी इसी सम्बन्ध में बसपा अध्यक्ष मायावती से मुलाकात कर सकते हैं, इससे पहले मायावती,  एनसीपी नेता शरद पवार से भी मुलाकात कर चुकी हैं.

You Might Also Like