इस मंदिर में काली माँ की झुकी हुई गर्दन अपने आप हो जाती है सीधी

इस मंदिर में काली माँ की झुकी हुई गर्दन अपने आप हो जाती है सीधी

हमारे देश में कई ऐसे मंदिर हैं जिनके बारे में कई प्रचलित कहानियां हैं. कुछ मंदिर में तो ऐसे भी चमत्कार होते हैं जिनके बारे में आज तक कोई नहीं जान पाया हैं. हम आपको आज एक ऐसे ही मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे. जब आप इस मंदिर के बारे में जानेंगे तो इस पर यकीन नहीं कर पाएंगे लेकिन ना चाहते हुए भी आपको इस पर विश्वास करना ही पड़ेगा.

हम आपको मध्यप्रदेश के रायसेन जिले के गुढ़ावल गांव में स्थित काली मां के प्राचीन मंदिर के बारे में बता रहे हैं. ये मंदिर मां कंकाली के नाम से भी मशहूर हैं. आपको बता दें भक्जन बड़ी ही दूर-दूर से इस मंदिर में दर्शन करने के लिए आते हैं और यहां आने वाले सभी भक्तों के कष्ट दूर होते हैं. इस कालो मंदिर के बारे में एक बात प्रचलित है कि यहाँ साल में एक बार स्थापित मां काली की प्रतिमा अपने आप सीधी हो जाती है. जी हाँ… इस नज़ारे को देखकर हर कोई हैरान भी हो जाता हैं.

इस काली मंदिर में स्थापित देवी मां की प्रतिमा की गर्दन टेढ़ी है लेकिन दशहरे के दिन मां काली की प्रतिमा की झुकी हुई गर्दन कुछ पलों के लिए अपने आप सीधी हो जाती है. मंदिर के बारे में ऐसी मान्यता है कि जो भी भक्त मां के इस रूप के दर्शन कर लेता है उसकी जिंदगी में मौजूद परेशानियां दूर हो जाती है. आपको बता दें मां कंकाली के इस मंदिर में मां काली की 20 भुजाओं वाली प्रतिमा मौजूद है.

You Might Also Like