पहली बार भारत दौरे पर आएंगे अफगानिस्तान के लिए अमेरिका के विशेष दूत जलमय खलीलजाद

पहली बार भारत दौरे पर आएंगे अफगानिस्तान के लिए अमेरिका के विशेष दूत जलमय खलीलजाद

आतंकवाद से जूझ रहे युद्धग्रस्त देश अफगानिस्तान के लिए अमेरिका के विशेष दूत जलमय खलीलजाद पहली बार भारत की यात्रा करेंगे। खलीलजाद की भारत यात्रा ऐसे समय हो रही है, जब दो दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच युद्धग्रस्त अफगानिस्तान में सहयोग बढ़ाने के प्रयासों पर चर्चा हुई थी।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक, खलीलजाद 8 से 21 जनवरी तक भारत, चीन, अफगानिस्तान और पाकिस्तान में एक अंतर-एजेंसी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे। हालांकि, इस बात की घोषणा नहीं की गई कि खलीलजाद किस तारीख को भारत की यात्रा करेंगे। खलीलजाद को पिछले साल अफगानिस्तान समाधान के लिए विशेष दूत नियुक्त किया गया था। उसके बाद खलीलजाद की यह पहली भारत यात्रा होगी। विदेश मंत्रालय ने कहा कि खलीलजाद अफगानिस्तान में राजनीतिक समाधान के लिए प्रत्येक देश में वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात करेंगे। 

मोदी और ट्रंप ने सोमवार शाम को फोन पर बातचीत की थी। इस दौरान ट्रंप ने भारत के साथ अमेरिकी व्यापार घाटे और युद्धग्रस्त अफगानिस्तान में भारत का सहयोग बढ़ाने समेत कई मामलों पर मोदी से चर्चा की थी। बताते चलें कि ट्रंप ने अफगानिस्तान में एक ‘पुस्तकालय’ के लिए धन देने को लेकर कुछ दिन पहले भारतीय प्रधानमंत्री का मजाक उड़ाया था। उन्होंने कहा था कि युद्ध प्रभावित देश में इसकी (पुस्तकालय) कोई आवश्यकता नहीं है। उन्होंने अफगानिस्तान की सुरक्षा के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाने को लेकर भारत और अन्य की आलोचना की थी। 

You Might Also Like