लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा गठबंधन पर औपचारिक ऐलान कल, मायावती व अखिलेश करेंगे संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस

लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा गठबंधन पर औपचारिक ऐलान कल, मायावती व अखिलेश करेंगे संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस

बसपा सुप्रीमों मायावती के लखनऊ पहुंचते ही राजनैतिक सरगर्मियां बढ़ गई हैं। शनिवार को दोनों पार्टियों के मुखिया संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस भी करेंगे। इस दौरान आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर गठबंधन का एलान भी होगा।

22 जनवरी को वह भाईचारा कमेटी की बैठक में लोकसभा चुनाव को लेकर दिशा-निर्देश देंगी। पहले यह बैठक 10 जनवरी को प्रस्तावित थी। इनमें बसपा के सभी प्रमुख नेता शामिल होंगे।

जानकारी के अनुसार आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर सपा और बसपा में गठबंधन को लेकर सहमति बन गई है। मायावती और अखिलेश के बीच दिल्ली में हुई लंबी बैठक में सीटों के बंटवारे को लेकर भी लगभग आम राय बन गई है। उनके बीच एक और बैठक होगी। इसके बाद तय हो जाएगा कि कौन का दल, किस सीट पर चुनाव लड़ेगा।

पहले यह संभावना जताई जा रही थी कि मायावती लोकसभा सीटों का फाइनल बंटवारा हो जाने तक गठबंधन की विधिवत घोषणा नहीं करना चाहती हैं। लेकिन कल होने वाले प्रेस कांफ्रेंस से उत्तर प्रदेश की राजनीति में नए दौर की शुरुआत जरुर होगी।

यूपी में लोकसभा की 80 सीटें है। सपा बसपा के साथ आने से अब भाजपा के लिए 2014 में किये गए प्रदर्शन को दोहराना अधिक चुनौतीपूर्ण होगा। 2014 में यूपी में एनडीए गठबंधन ने 73 सीटें जीती थी।

कल प्रेस कांफ्रेंस में सीटों के बंटवारे की भी घोषणा हो सकती है। अभी कयास लगाए जा रहे हैं कि दोनों पार्टियां 37-37 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। रायबरेली और अमेठी के सीट कांग्रेस के लिए छोड़ी जा सकती है। जबकि रालोद को तीन सीटे दी जा सकती हैं।

 

You Might Also Like