एक बार फिर दिल्ली-NCR में हवा की गुणवत्ता में आई भारी गिरावट, ट्रेन पर पड़ा कोहरे का असर

एक बार फिर दिल्ली-NCR में हवा की गुणवत्ता में आई भारी गिरावट, ट्रेन पर पड़ा कोहरे का असर

बीते हफ्ते बारिश के बाद सुधरी दिल्ली-एनसीआर की हवा एक बार फिर बहुत खराब श्रेणी में पहुंच गई है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक, हवा की गति मंद पड़ने और कोहरा व धुंध बढ़ने की वजह से हवा की गुणवत्ता खराब हुई है। हालांकि, अगले दो से तीन दिन में दोबारा बारिश की उम्मीद है। ऐसे में यह प्रदूषण टिकाऊ नहीं माना जा रहा है।

सीपीसीबी के मुताबिक, शुक्रवार को दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 364 यानी बहुत खराब श्रेणी में दर्ज हुआ। आनंद विहार, बवाना, द्वारका सेक्टर-8, आईटीओ और मुंडका में गंभीर प्रदूषण दर्ज किया गया। 28 स्थानों पर हवा की गुणवत्ता बहुत खराब दर्ज की गई। 3 स्थान खराब वायु गुणवत्ता वाले रिकॉर्ड हुए। दिल्ली के अलावा गाजियाबाद, फरीदाबाद, नोएडा में भी हवा की गुणवत्ता बहुत खराब स्तर पर ही बनी हुई है। गुरुग्राम की हवा अब भी खराब स्तर पर ही है।

दिल्ली-एनसीआर की हवा में पार्टिकुलेट मैटर 2.5 का स्तर 246 और पीएम 10 का स्तर 396 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर रिकॉर्ड हुआ। ये दोनों मानक से करीब चार गुना ज्यादा तक पहुंच गए हैं। पीएम 2.5 का सामान्य मानक 60 और पीएम 10 का सामान्य मानक 100 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर है। दिल्ली में बुधवार और बृहस्पतिवार को इस वर्ष का अब तक का सबसे कम प्रदूषण रिकॉर्ड किया गया था।

कोहरे से एक दर्जन ट्रेन चलीं देरी से
दिल्ली के आसमान पर कोहरे का असर रेलगाड़ियों की आवाजाही पर भी पड़ा है। इससे देश के दूसरे हिस्सों से सुबह दिल्ली पहुंचने वाली करीब दर्जन ट्रेन देरी से पहुंचीं। रेलवे के मुताबिक, नई दिल्ली-गया के बीच चलने वाली महाबोधि एक्सप्रेस, फैजाबाद-दिल्ली एक्सप्रेस और प्रतापगढ़-दिल्ली पद्मावत एक्सप्रेस समेत दूसरी रेलगाड़ियां दो से तीन घंटे की देरी से दिल्ली के अलग-अलग स्टेशनों पर पहुंचीं।

You Might Also Like