IAS फैसल के बाद अब अनंतनाग के न्यायाधीश ने दिया स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति का आवेदन

IAS फैसल के बाद अब अनंतनाग के न्यायाधीश ने दिया स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति का आवेदन

श्रीनगर : आइएएस टॉपर शाह फैसल के इस्तीफे के बाद अब दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग के प्रमुख जिला सत्र न्यायाधीश सईद तौकीर अहमद ने अपने पद से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए आवेदन कर दिया है। उन्होंने प्रत्यक्ष तौर पर घरेलू वजहों से इस्तीफा देने की बात की है, लेकिन कहा जा रहा है कि वह न्यायिक सेवा से मुक्त होने के बाद राज्य की सियासत में अपना भविष्य आजमाना चाहते हैं।

सूत्रों ने बताया कि मूलत: जिला अनंतनाग के रहने वाले सईद तौकीर अहमद ने राज्य उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार को लगभग सात दिन पहले अपनी स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति का लिखित आग्रह भेजा है। इसमें उन्होंने बताया कि वह 21 साल से न्यायिक सेवा में हैं और वर्तमान में अनंतनाग के प्रमुख जिला व सत्र न्यायधीश के पद पर कार्यरत हैं। पारिवारिक कारणों के चलते वह अब स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति चाहते हैं। उन्होंने ऑल इंडिया सर्विस (डेथ-कम-रिटायरमेंट बेनिफिट्स) रूल 1954 के प्रावधानों और जम्मू कश्मीर हायर ज्यूडिशियल सर्विस 2009 के नियमों का हवाला देते हुए कहा है कि सवैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए तीन माह का अग्रिम नोटिस जरूरी है।

मुझे यथाशीघ्र स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति प्रदान करने में इन नियमों में छूट दी जाए। सईद तौकीर अहमद से उनके स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के मामले में संपर्क नहीं हो पाया है और न अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि हुई है। संबंधित सूत्रों की मानें तो सईद तौकीर अहमद न्यायिक सेवा से अलग होने के बाद दक्षिण कश्मीर में कोकरनाग विधानसभा सीट पर नेशनल कांफ्रेंस के टिकट पर चुनाव लड़ने के मूड में हैं। यहा यह बताना असंगत नहीं होगा कि डॉ. शाह फैसल के बाद रियासत में किसी बड़े नौकरशाह या किसी न्यायिक सेवा से जुड़े किसी वरिष्ठ अधिकार के स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के आवेदन का यह पहला मामला है।

You Might Also Like