‘धनकुबेर’ ज्वाइंट डायरेक्टर के आवास में मिली शराब, गिरफ्तारी के बाद निलंबन तय

‘धनकुबेर’ ज्वाइंट डायरेक्टर के आवास में मिली शराब, गिरफ्तारी के बाद निलंबन तय

‘धनकुबेर’ निकले बिहार के उद्योग विभाग के ज्वाइंट डायरेक्टर संजय कुमार सिंह के आवास से विदेशी शराब की बोतल मिली है। स्पेशल विजिलेंस यूनिट (एसवीयू) की टीम ने उनके आवास को खंगाला तो शराब की बोतल देखकर अधिकारी स्तब्ध रह गये। इसके बाद ज्वाइंट डायरेक्टर को गिरफ्तार कर पटना के एसके पुरी थाने के हवाले कर दिया गया। सूत्रों के मानें तो अब उनके खिलाफ निलंबन की कार्रवाई होगी। 

इतना ही नहीं, ज्वाइंट डायरेक्टर संजय कुमार सिंह के आवास के लॉकरों को भी खंगाला गया। दो लॉकरों को खंगालने के बाद एसवीयू की टीम को 2 किलो से अधिक सोना और 1 किलो चांदी भी मिले हैं। बता दें कि बिहार में उद्योग बिहार का ज्वाइंट डायरेक्टर संजय कुमार सिंह के पटना स्थित कार्यालय व आवास पर निगरानी की टीम ने एक साथ छापा मारा था। मंगलवार को हुई छापेमारी के बाद बुधवार को भी उनका आवास टीम ने खंगाला। आय ये अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में यह छापेमारी की गई थी। छापेमारी टीम को करोड़ों की संपत्ति मिली है। स्पेशल विजिलेंस यूनिट (एसवीयू) के आइजी रत्न संजय ने छापेमारी की पुष्टि की।

7 गुना अधिक संपत्ति 

पुलिस इस बिंदु पर भी जांच कर रही है कि सूबे में शराबबंदी होने के बाद भी ज्वाइंट डायरेक्टर के आवास में शराब कहां से आई और इसे कौन लाया। उधर टीम को संजय कुमार सिंह से अब तक 2 करोड़ की संपत्ति का पता चला है। इसमें मंगलवार की देर रात की छापेमारी में ही 1.35 करोड़ रुपये की अधिक संपत्ति के बारे में जानकारी मिल गई थी। वहीं प्राथमिकी में संजय सिंह के पास आय से 7 गुना अधिक 1.18 करोड़ की संपत्ति होने की बात आई है।

दो लॉकरों से मिले सोने-चांदी

संजय कुमार सिंह के सेंट्रल बैंक की बोरिंग रोड स्थित शाखा के लॉकर में 1645 ग्राम सोने के जेवर के साथ 800 ग्राम चांदी मिली। इसी तरह, स्टेट बैंक की श्रीकृष्णापुरी शाखा के लॉकर से 600 ग्राम सोना के अलावा 218 ग्राम चांदी जब्त की गई है। टीम ने घर की तलाशी के दौरान उनके बैंक खाते के पासबुक आदि जब्त किए थे। इसके आधार पर लॉकरों को भी खंगाला गया।

11 साल में महज 8 लाख की निकासी

खास बात कि 11 साल से संजय ने अपनी सैलरी अकाउंट से महज आठ लाख रुपये की निकासी की है, जो प्रतिमाह औसतन 6500 रुपये है। जबकि, वर्ष 2015-16 में उन्होंने खाते से एक भी रुपये नहीं निकाले और 2016-17 में मात्र 500 रुपये की निकासी की, जबकि इस दौरान उन्होंने सरकार से लगभग 1.35 करोड़ रुपये लिये। इसके अनुसार वह 16 लाख रुपये तक बचत कर सकते हैं, लेकिन उन्होंने 7 गुना अधिक संपत्ति बनाई। एसवीयू की टीम उनकी अन्य संपत्तियों के बारे में पता लगा रही है। पत्नी और बच्चों के नाम पर खरीदी गई चल-अचल संपत्ति के बारे में जानकारी हासिल की जा रही है।

मिले हैं पुराने नोट भी

बहरहाल एसवीयू टीम को संजय सिंह के आनंदपुरी स्थित आवास 19.5 हजार रुपए के पुराने नोट भी मिले हैं। इनमें 500 के 39 नोट हैं। ये नोट शायद नोटबंदी के दौरान बदले नहीं जा सके हों। वहीं 10 डॉलर के 6 नोट भी जब्त किये गये हैं। लेकिन सबसे अधिक चर्चा शराब को लेकर है, जो उनके आवास से मिली है। सूत्रों की मानें तो ​संजय सिंह की गिरफ्तारी के बाद अब उन पर निलंबन की तैयारी चल रही है।

You Might Also Like