70वें गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए राज्यपाल लालजी टंडन ने बिहार सरकार की उपलब्धियों को गिनाया

70वें गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए राज्यपाल लालजी टंडन ने बिहार सरकार की उपलब्धियों को गिनाया

 70वें गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए राज्यपाल लालजी टंडन ने बिहार सरकार की उपलब्धियों को गिनाया। उन्होंने कहा कि बिहार को विकसित राज्यों की श्रेणी में लाने के लिए सरकार लगातार कार्य कर रही है। विकास के कार्यों को लोगों तक पहुंचाया जा रहा है। 

राज्यपाल ने गांधी मैदान में आयोजित समारोह के दौरान संबोधन करते हुए कहा कि सुशासन के कार्यक्रम के तहत सात निश्चय की योजनाओं से राज्य का समग्र विकास हो रहा है. इतना ही नहीं, कृषि राेड मैप से भी सूबे का उल्लेखनीय विकास विकास हुआ है. किसानों की स्थिति को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास चल रहा है। 

उन्होंने कहा कि पुस्तकालयों व प्रयोगशालाओं की गुणवत्ता सुधारी जा रही है. विवि में सकारात्मक व शैक्षणिक वातावरण बने हैं. शिक्षा पर भी सरकार ध्यान दे रही है।  छात्रों व छात्राओं के लिए सरकार ने कई कार्यक्रम चला रखे हैं। बेटियों को शिक्षा के क्षेत्र से जोड़ने के लिए प्रोत्साहन राशि दी जा रही है। बेटियों के इंटर व स्नातक पर राशि देने का प्रावधान बनाया गया है। 

उन्होंने कहा कि राज्य में सड़कों का जाल बिछाकर कहीं से भी छह घंटे में पटना पहुंचने का लक्ष्य पूरा कर लिया गया है. उन्होंने कहा कि अब चार घंटे का लक्ष्य रखा गया है. इसके साथ ही राज्य को आर्थिक रूप से सबल और सशक्त बनाने के लिए बिहारवासी अपनी भागीदारी निभाएं. विकास व कल्याण के पथ पर सभी क्षेत्रों और वर्गों को साथ लेकर चलने के लिए राज्य सरकार संकल्पित है। 

राज्यपाल ने कहा कि समावेशी, न्यायोचित और आर्थिक प्रगति पर आधारित है राज्य के सतत विकास की रणनीति। कानून का राज सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में शामिल है। बिना किसी भेदभाव के कानूनी प्रावधानों का अनुसरण कराते हुए अपराध नियंत्रण की ठोस व्यवस्था लागू की गई है। 

उन्होंने कहा कि सूबे में सरकार खेल-कूद को बढ़ावा दे रही है। मुख्यमंत्री खेल विकास योजना के अंतर्गत प्रखंड स्तर पर स्टेडियम का निर्माण कराया जा रहा है। इतना ही नहीं, खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का आधारभूत संरचना उपलब्ध हो, इसके लिए राजगीर में राज्य खेल अकादमी तथा अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी का निर्माण कराया जा रहा है।

You Might Also Like