यूपी के मर्ज की दवा ढूंढने ‘साउथ मिशन’ पर PM मोदी, देंगे AIIMS की सौगात

यूपी के मर्ज की दवा ढूंढने ‘साउथ मिशन’ पर PM मोदी, देंगे AIIMS की सौगात

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अभी से तैयारियों में जुट गए हैं. 2014 में सरकार बनाने में सबसे मददगार साबित हुई उत्तर प्रदेश में इस बार राह कठिन होते देख बीजेपी दूसरे राज्यों के जरिए बहुमत के आंकड़े जुटाने की कोशिश में जुट गई है. इसी कड़ी में बीजेपी (BJP) ने नॉर्थ-ईस्ट में अपनी स्थिति मजबूत करने के बाद दक्षिण भारतीय राज्यों में धमक देने की तैयारी है. दक्षिण के राज्यों में बीजेपी को लोकसभा की कुछ सीटें दिलाने के लिए खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra modi) आज (27 जनवरी) से मिशन पर निकलेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज तमिलनाडु (Tamil nadu) और केरल (Kerala) के दौरे पर हैं. इन दोनों राज्यों में पीएम मोदी कई विकास योजनाओं की सौगात देंगे. तमिलनाडु में प्रधानमंत्री अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) अस्पताल की आधारशिला रखेंगे, जबकि केरल में वह रिफाइनरी प्रोजेक्ट देश को समर्पित करेंगे.

तमिलनाडु में PM का कार्यक्रम

पीएम मोदी 11:30 बजे तमिलनाडु के मदुरै में AIIMS का शिलान्यास करेंगे. इसके बाद राजाजी मेडिकल कॉलेज के सुपर स्पेशिएलिटी ब्लॉक का उद्घाटन करेंगे. तंजावुर, तिरुनिलवेली में अपग्रेड किए गए मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन करेंगे. 12 बजे पीएम की मदुरै के मंडेला नगर ग्राउंड पर रैली को संबोधित करेंगे.

केरल में पीएम मोदी का कार्यक्रम

पीएम मोदी 2:30 बजे कोच्चि रिफाइनरी के कई प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास करेंगे. IOC के इंटीग्रेटेड रिफाइनरी एक्सपेंशन कॉम्प्लेक्स का उद्घाटन करेंगे. शाम 4 बजे त्रिशूर के तेक्केनकाडु मैदान में पीएम मोदी रैली करेंगे.

रैली के जरिए कार्यकर्ताओं में जोश भरेंगे पीएम मोदी

पीएम मोदी इस दौरे पर तमिलनाडु और केरल में जनसभा को संबोधित करेंगे. इसमें दक्षिण के राज्यों से बीजेपी के सभी कार्यकर्ताओं को बुलाया गया है. पीएम भाषण के जरिए कार्यकर्ताओं में जोश भरने का काम करेंगे. पीएम के कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए बीजेपी की तमिलनाडु और केरल ईकाई लंबे समय से काम कर रही थी. हर कार्यकर्ता को भीड़ जुटाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

मालूम हो कि 2014 के लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की 80 में से 73 सीटें बीजेपी और उसके सहयोगियों ने जीती थी. इस बार यहां सपा-बसपा और रालोद के गठबंधन से राह मुश्किल होती दिख रही है. इसके अलावा कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को मैदान में उतारकर मुकाबले को रोमांचक बना दिया है. साथ ही मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद भी बीजेपी के लिए यहां राह मुश्किल नजर आ रही है. माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में होने वाले संभावित नुकसान की भरपाई के लिए बीजेपी नॉर्थ ईस्ट और दक्षिण के राज्यों से उम्मीदें पाले हुई है. तमिलनाडु में लोकसभा की 39 सीटें हैं. यहां पर बीजेपी का किसी भी दल से गठबंधन नहीं है. हालांकि पार्टी को उम्मीद है कि एआईएडीएमके के साथ उसका गठबंधन हो सकता है.

You Might Also Like