बिहार: मुजफ्फरपुर में फिर गरजी AK-47, पुलिस एनकाउंटर में मारा गया अपराधी

बिहार: मुजफ्फरपुर में फिर गरजी AK-47, पुलिस एनकाउंटर में मारा गया अपराधी

 मुजफ्फरपुर में एक बार फिर से एके 47 रायफलें गरजी हैं। वर्चस्व की लड़ाई में एक अपराधियों ने कुंदन सिंह की हत्या कर दी जिसके बाद भाग रहे अपराधियों की पुलिस के साथ मुठभेड़ हो गयी जिसमें पुलिस को एके 47 चलानी पड़ी और उस एनकाउंटर में एक अपरादी की मौत हो गयी। अपराधी का नाम रोहित कुमार बताया जा रहा है।

अहियापुर थाना अंतर्गत बैरिया बस स्टैंड में शुक्रवार को वर्चस्व की लड़ाई में जमकर गोलीबारी हुई जिसमें अपराधियों ने कुंदन सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी। उस समय वह अपने काउंटर पर ही बैठा था।

जानकारी के मुताबिक छह हथियारबंद अपराधी वहां पहुंचे और कुंदन सिंह को घेरे में लेकर फायरिंग शुरू कर दी। दो गोली उसके सीने में लगी। जिससे वहीं पर उसकी मौत हो गई। कुंदन कई ट्रेवल कंपनियों की बसों की टाइमिंग व परिचालन का इंचार्ज था। गोलीबारी की इस घटना में किशनगंज का पवन कुमार भी घायल हो गया। 

गोली मारने के बाद अपराधी वहां से भागने लगे। कुंदन को खून से लथपथ देख उसके कुछ साथियों ने भाग रहे अपराधियों पर जवाबी फायरिंग शुरू कर दी। तब तक गोलीबारी की सूचना एसटीएफ के जवानों तक पहुंच गई। इनलोगों ने जब पकडऩे की कोशिश की तो अपराधियों ने उनपर भी फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई से घबराया एक अपराधी बस में छुप गया। वहां से एसटीएफ जवानों व यात्रियों पर फायरिंग करने लगा।

पहले जवानों ने बस को अपने घेरे में लिया। एक जवान ने दूसरी बस की छत पर जाकर पोजीशन लिया और एके- 47 से फायर कर उस अपराधी को मौके पर ही ढेर कर दिया। हालांकि अन्य अपराधी भागने में कामयाब  रहे।

मृतक अपराधी की पहचान सीतामढ़ी परसौनी के रोहित कुमार के रूप में हुई है। अहियापुर पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने की कवायद शुरू कर दी है। कुंदन के परिजनों के बयान पर केस दर्ज करने की भी प्रक्रिया चल रही है। 

घटना की सूचना मिलने के बाद एसएसपी मनोज कुमार, सिटी एसपी राकेश कुमार, नगर डीएसपी समेत कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच की। अहियापुर पुलिस ने घटनास्थल से अपराधी का पिस्टल, दो गुप्ती, मैगजीन और दर्जन भर खोखे बरामद किए। 

कुंदन सिंह का वर्चस्व

 बैरिया बस स्टैंड पर कुंदन ने वर्चस्व कायम कर रखा था। उसके इशारे पर ही बसें चलती थीं। इसके बदले वह पैसा लेता था। इससे बस मालिक परेशान थे। इसको लेकर उसका कई लोगों से विवाद भी चल रहा था। पूर्व में कुंदन ने प्राथमिकी भी दर्ज कराई थी। 

कहा-एसएसपी ने –

बस स्टैंड  में काम करने वाले कुंदन सिंह पर अपराधियों ने फायरिंग की। गोली की आवाज पर एसटीएफ जवानों ने घेराबंदी की। जिसके बाद अपराधियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने एक अपराधी को ढेर कर दिया। 

You Might Also Like